SSP ने आरटीसी बैरक और मेस का निरीक्षण करने के बाद की बैठक

SSP ने आरटीसी बैरक और मेस का निरीक्षण करने के बाद की बैठक

एस एस पी ने कहा हमारे कर्मचारी बेहतर भोजन करते हुए हृष्ट पुष्ट रहते हुए अपने अपने दायित्वों का निर्वहन कर सकें तथा पुलिस लाइन के बैंरकों में आराम से रह सकें तथा वैक्सिनेशन की प्रबलता पर जोर दिया।

गोरखपुर। रिजर्व पुलिस लाइन में रहने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को बेहतर क्वालिटी का भोजन मिले तथा आरटीसी रिक्रूट महिला आरक्षी को कोविड-19 वैक्सीनेशन लग चुका है कि नहीं, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी आरटीसी बैरक व मेस का निरीक्षण कर संबंधितों के साथ बैठक कर एसएसपी ने प्राप्त की जानकारियां। 

इसे भी पढ़ें: जिला पंचायत चुनाव में भाजपा प्रत्याशी साधना सिंह निर्विरोध निर्वाचित, DM ने दिया प्रमाण पत्र 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी पुलिस लाइन में रह रहे अधिकारियों व अन्य कर्मचारियों को बेहतर क्वालिटी युक्त भोजन उपलब्ध कराने के लिए प्रयत्नशील रहते है। हमारे कर्मचारी बेहतर भोजन करते हुए हष्ट पुष्ट रहते हुए अपने अपने दायित्वों का निर्वहन कर सकें तथा पुलिस लाइन के बैंरकों में आराम से रह सकें। वैसे तो पुलिस लाइन के बैरकों की दशा ठीक-ठाक नहीं है लेकिन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयत्नशील हैं कि रिजर्व पुलिस लाइन गोरखपुर का आवासी व आफिस चित्रकूट नए युग के हिसाब से बेहतर क्वालिटी का बहुमंजिला बनाया जा सके। जिसमें पुलिस लाइन के कर्मचारी अपने अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए अपने अपने आवासों में आराम से रह सकें। 

इसे भी पढ़ें: कोविड टीकाकरण पर दिया जाएगा जोर, धर्मगुरु- मुख्य चिकित्साधिकारी दूर करेंगे भ्रांतियां 

एसएसपी पुलिस लाइन सभागार में संबंधित के साथ बैठक कर रिक्रूट महिला आरक्षी तथा पुलिस विभाग के किन-किन कर्मचारियों ने अब तक कोविड-19 की वैक्सीन लगवाई है या नहीं। अगर नहीं लगवाया है तो क्यों नहीं लगवाया है कारण जाना। ना लगवाने वाले कर्मचारियों को हिदायत देते हुए कहा कि वह अविलंब 1 हफ्ते के अंदर कोविड-19 वैक्सीनेशन लगवाकर प्रतिसार निरीक्षक को अवगत कराएं। इस दौरान पुलिस अधीक्षक ट्रैफिक /लाइन रामसेवक गौतम सहायक पुलिस अधीक्षक/ क्षेत्राधिकारी कैंट/ लाइन राहुल भाटी प्रतिसार निरीक्षक उमेश कुमार दुबे मौजूद रहे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।