• डायग्नोस्टिक सेंटर लूटकांड का एसएसपी ने किया खुलासा, चार बदमाश ​गिरफ्तार

गुरुवार की रात पुलिस व क्राइम ब्रांच ने चारों बदमाशों को कैंट ​इलाके के पार्क रोड से गिरफ्तार कर लिया। बदमाशों की पहचान पैथोलॉजी से निकाले गए कर्मचारी अनूप गौड़ सहित अमन अग्रहरी,दीपू मोदनवाल व सागर गौड़ के रुप में हुई है। चारों बदमाश शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर जिले के रहने वाले हैं।

गोरखपुर। पुलिस ने कैंट इलाके के बेतियाहाता में पैथोलाजी संचालक के पिता से साढ़े 4 लाख रुपए लूटे जाने के मामले का शुक्रवार को पर्दाफाश ​कर दिया। पुलिस का दावा है कि पैथोलाजी से निकाले गए कर्मचारी ने ही अपने साथियों संग मिलकर इस लूट की वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस ने इस मामले में निकाले गए कर्मचारी सहित चार बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया।

 

बदमाशों के पास से लूटे गए 1.94 लाख रुपए कैश सहित तमंचा व कारतूस और एक बाइक भी पुलिस ने बरामद किया है। सभी बदमाशों के खिलाफ केस दर्ज कर शुक्रवार को उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, ज​हां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

एसएसपी ने किया खुलासा

इस मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने बताया कि 12 जून को कैंट इलाके के बेतियाहाता में लाइफ डायग्नोस्टिक सेंटर के संचालक के पिता से बदमाशों ने पिस्टल सटाकर 4.50 लाख रुपए लूट लिए थे।

पुलिस की जांच में सामने आया कि उदयपुर सिद्धार्थनगर का रहने वाला अनूप गौड़ पैथोलॉजी में ब्लड कलेक्शन का काम करता था। लेकिन कोरोना के दौरान मरीज से अधिक पैसे लेने के आरोप में पैथोलाजी के मालिक ने अनूप को नौकरी से हटा दिया।

अनूप को पैथोलोजी में रोजाना की आमदनी से लेकर हर एक चीज की सटीक जानकारी थी। इसके बाद अनुप ने अपने इंदिरानगर के किराए के कमरे पर कन्हैया मदृेशिया को रख लिया और लूट की योजना बना डाली।

एसएसपी ने बताया कि इस दौरान अनूप ने पैथोलाजी के कर्मचारी सनातन की रेकी कर कन्हैया को उसकी पहचान करा दी। इसके बाद कन्हैया ने सिद्धार्थनगर से तीन और साथियों को बुलाया। बदमाशों ने 6 से 12 जून तक लगातार रेकी की, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। इसके बाद 12 जून को पैथोलॉजी के डायरेक्टर द्वारा ले जा रहे 4.50 लाख रुपयों की लूट की इस वारदात को अंजाम दे डाला और भाग गए। और इसके बाद सभी बदमाश सिद्धार्थनगर के शोहरतगढ़ भाग गए।

गुरुवार की रात पुलिस व क्राइम ब्रांच ने चारों बदमाशों को कैंट ​इलाके के पार्क रोड से गिरफ्तार कर लिया। बदमाशों की पहचान पैथोलॉजी से निकाले गए कर्मचारी अनूप गौड़ सहित अमन अग्रहरी,दीपू मोदनवाल व सागर गौड़ के रुप में हुई है। चारों बदमाश शोहरतगढ़, सिद्धार्थनगर जिले के रहने वाले हैं। प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक नगर सोनम कुमार सहायक पुलिस अधीक्षक/ क्षेत्राधिकारी कैंट राहुल भाटी रहे मौजूद।