गोरखपुर की खबरें: लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ यातायात पुलिस सख्त

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 23, 2021   14:59
गोरखपुर की खबरें: लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ यातायात पुलिस सख्त

राज्य सरकार के के निर्देश के बाद पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने जारी आदेश में कहा है कि ग्राम पंचायतों के संगठित और निर्वाचित सदस्यों की शपथ कार्यक्रम वर्चुअल माध्यम से कराए जाएंगे शपथ कार्यक्रम में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा।

गोरखपुर। एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु के निर्देश पर यातायात पुलिस ने आज जनपद में गोरखनाथ, धर्मशालाबाज़ार, यातायात तिराहा,असुरन चौराहा आदि स्थानों पर लॉक डाउन का उलंघन करने वालो के खिलाफ बड़ा अभियान चलाते हुए 75 वाहनों को सीज कर दिया वही 105 वाहनों का चालान काटा गया। यातायात पुलिस के टीआई अख्तियार अहमद अंसारी और टीआई सुनील सिन्हाल ने आज बड़े पैमाने पर उन लोगो के खिलाफ अभियान चलाया जो लोग इस लॉक डाउन में बेवजह अपने दो पहिया और चार पहिया वाहनों के लेकर सड़कों पर घूमने की नियत से निकल रहे है ऐसे लोग पर शिकंजा कसने के लिए अब यातायात पुलिस ने भी कमर कस लिया।

इसे भी पढ़ें: कंबोडिया में फंसे हैं गोरखपुर के 150 नागरिक, सांसद रवि किशन ने विदेश मंत्री को लिखा पत्र

यातायात पुलिस की इस बड़ी कार्यवाही से वाहन चालको में हड़कंप मच गया वाहन स्वामियों ने अपने वाहनों के छुड़ाने के लिए हज़ार जुगाड़ और बहाने बनाये लेकिन इस बार पुलिस का रुख सख्त था सभी सीज हुए वाहनों को यार्ड पहुंचाया गया  और सभी के खिलाफ लॉक डाउन के उलंघन करने के खिलाफ कार्यवाही की गई ट्रैफिक इंस्पेक्टर अख्तियार अहमद अंसारी ने बताया है की बार बार लोगो से अनुरोध किया गया था की जरूरी काम हो तभी घरों से निकले लेकिन लोग हैं की मानते नही संक्रमण का खतरा बना हुआ है प्रदेश सरकार ने सिर्फ आवश्यक काम के लिए ही छूट दिया लेकिन लोग तरह तरह के बहाने बना कर अपने वाहनों के लेकर सड़को पर घुमते हुए नज़र आ रहे है अब ऐसे लोगो पर शिकंजा कसने के लिए यातायात पुलिस प्रतिदिन हर प्रमुख चौराहों पर अभियान चलाएगी और जो लोग भी बेवजह घूमते मिले उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

जस्टिस फॉर आदित्य

खबरों का असर उत्तर प्रदेश कांग्रेस पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष विश्व विजय सिंह ने और उनके साथ साहिल त्रिपाठी और उनकी टीम ने लिया स्वर्गीय आदित्य दुबे के मामले का संज्ञान। घर पहुंच कर मृतक के परिजनों का कुशल क्षेम जाना और आर्थिक सहायता के साथ ही हर तरह से सहयोग करने का वादा किया और कहा कि जब भी प्रदेश अध्यक्ष गोरखपुर आएंगे तो पहले वरिष्ठ पत्रकार स्वर्गीय आदित्य के घर जाएंगे। 

वह सदन से लगाए सड़क पर इस मामले को उठाएंगे  उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने पत्रकारों का दर्द समझती है जो इस विकट स्थिति में भी समाज के लिए लगातार कार्य कर रहे हैं यह भी हमारे हीरो हैं और इनका हर तरह से सहयोग करना हमारा दायित्व है।

एसएसपी ने गुरु गोरखनाथ मेडिकल कॉलेज सोनबरसा मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल का किया निरीक्षण

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 26 मई को संभावित कार्यक्रम स्थल गुरु गोरखनाथ मेडिकल कॉलेज सोनबरसा के प्रस्तावित कार्यक्रम स्थल का वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी अपने सहयोगियों के साथ निरीक्षण कर कानून व्यवस्था का लिया जायजा असुरन चौक पर लॉक डाउन का कराया पालन संबंधित अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संभावित कार्यक्रम को देखते हुए गुरु गोरखनाथ मेडिकल कॉलेज सोनबरसा में बनाए जा रहे  200 बेड के कोविड हॉस्पिटल के उद्घाटन के अवसर पर मुख्यमंत्री के पहुंचने को ध्यान में रखते हुए कानून व्यवस्था का जायजा लेने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज कुमार अवस्थी क्षेत्राधिकारी कैम्पियरगंज अजय कुमार सिंह के साथ कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश दिया कि कार्यक्रम स्थल सहित अन्य रूटों पर आगमन से प्रस्थान तक सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रखते हुए सुरक्षा व्यवस्था बनाया जाए जिससे आवागमन व प्रस्थान के दौरान किसी भी प्रकार की किसी भी आम जनमानस को दिक्कत का सामना ना करना पड़े जिसका संबंधित अधिकारीगण अनुपालन करेंगे।

गुरु गोरखनाथ मेडिकल कॉलेज सोनबरसा मुख्यमंत्री कार्यक्रम स्थल से वापस असुरन पुलिस चौकी पहुंचकर बेवजह घूम रहे घुमंतू किस्म जैसे लोगों को वैगनआर जैसे गाड़ियों में 13 की संख्या में देखकर एसएससी भौचक्का रह गए कि इतनी छोटी सी गाड़ी वैगनआर में 13 लोगों की संख्या भर कर  लॉकडाउन में  घूमते हुए लॉक डाउन के धज्जियां को उड़ाया जा रहा है अगर उस वैगनआर मालिक के ऊपर कार्यवाही की जाती तो लोग उंगलियां उठाते हैं कि परिवार कहीं जा रहा था जिसका पुलिस ने चालान कर दिया लेकिन अपनी जान की परवाह न करते हुए एक-एक गाड़ियों में इतनी संख्या में भरकर कोरोना को दावत स्वयं देते हुए कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर रहे हमें अपने अपने घरों में रहते हुए सुरक्षित रहना चाहिए जिससे इस भयंकर कोरोना संक्रमण महामारी से बचा जा सके। पुलिस अधीक्षक अपराध डॉ महेंद्र पाल सिंह भी रहे मौजूद।

सोशल मीडिया पर महिला के लिए मांगी गई ब्लड की मदद, देखते ही पहुंच गया पीआरवी जवान, खून देकर बचा ली महिला की जान

गोरखपुर पुलिस विभाग में खामियां ही नजर आती हैं अच्छाइयां बहुत ही कम देखने को मिलती है लेकिन एक ऐसे शख्स ने इस कहावत को उल्टा कर साबित कर दिया कि पुलिस विभाग में भी नेक इंसान मौजूद हैं जो आवश्यकता पड़ने पर अपनी जान का परवाह न करते हुए दूसरे की जान बचाने में तत्पर रहते हैं। लेकिन कुछ पुलिसकर्मी आज भी ऐसे हैं जो लगातार लोगों की सेवा कर मानवता की मिसाल पेश कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से सामने आया है। यहां अस्पताल में एक महिला का ऑपरेशन चल रहा था। अचानक उसे ब्लड की जरूरत पड़ गई। परेशान पति ने फेसबुक पर पोस्ट डालकर लोगों से ब्लड के लिए मदद मांगी। इस बीच गोरखपुर के एक पीआरवी जवान की नजर उस पोस्ट पर पड़ गई। फिर क्या था, बिना देर किए उसने इसकी सूचना अपने अधिकारियों को दी और अनुमति मिलते ही ब्लड देने अस्पताल पहुच गया। गंभीर स्थिति में महिला को वक्त रहते ब्लड मिल गया और उसकी जान बच गई। शनिवार को इसकी जानकारी होते ही पुलिस जवान की हर ओर तारीफ हो रही है।

इसे भी पढ़ें: गोरखपुर: निगरानी समितियों को जागरूक करने के लिए सदर तहसीलदार ने दिया आवश्यक दिशा निर्देश

जानकारी के मुताबिक बिहार राज्य के रहने वाले रतन कुमार  की पत्नी का गोरखपुर शहर के डॉक्टर अभिजीत सरकारी के वहां शुक्रवार की रात आपरेशन चल रहा था। इस बीच डॉक्टर ने रतन से तत्काल ब्लड का इंतेजाम करने को कह दिया। चूंकि गोरखपुर में उनका कोई परिचित नहीं था ऐसे में वह काफी परेशान हो गए। इसके बाद उन्होंने फेसबुक पर एक पोस्ट डालकर लोगों से ब्लड के लिए मदद की गुहार लगाई।

कुछ ही देर में लोगों ने पोस्ट को शेयर करना शुरू कर दिया और इस बीच गोरखपुर डायल 112 पीआरपी 3882 के कांस्टेबल शिवाम्बुज कुमार पटेल की नजर पोस्ट पर पड़ी। शिवाम्बुज ने तत्काल इसकी सूचना कंट्रोल रूम को दी और बिना देर किए ब्लड देने पहुंच गए। गंभीर हालत में महिला को वक्त रहते ब्लड चढ़ने लगा और उसकी जान बच गई। महिला के पति रतन कुमार और उनके परिवार के लोगों ने मदद करने वाले कांस्टेबल शिवाम्बुज कुमार पटेल के प्रति आभार व्यक्त किया। 

गोरखपुर : ईंट भट्ठे पर मजदूर के हत्या में शामिल तीन अभियुक्तों को गोला पुलिस ने किया गिरफ्तार

गोला थाना क्षेत्र के ग्राम नेवसा में स्थित मुकुल ईंट भट्ठे पर शुक्रवार की शाम समय लगभग साढ़े छह बजे दो मजदूर आपसी विवाद में भिड़ गए। जिसमें एक मजदूर की मौत हो गयी थी। वही पुलिस मौके पर पहुंच कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार नेवसा गांव में मुकुल मारका ईंट भट्ठा है। उस भट्ठे पर बिहार से आये हुए मजदूर काम करते है। शुक्रवार को लेबरों का हप्ता हुआ। मालिक ने सभी को उनका पारिश्रमिक धन दिया था। शुक्रवार की साढ़े छह बजे के लगभग ईंट भट्ठे का मुख्य मेठ अरुण व सहायक मेठ पतरु में भट्ठे पर काम करने वाली एक लड़की से शादी की बात को लेकर विवाद हो गया।

बीते शाम को एक ईंट भट्ठे पर आपसी विवाद में भिड़ गए थे मजदूर, मारपीट में एक की हो गयी थी मौत सूत्रों का कहना है कि बिहार का रहने वाला मृतक पतरु तीन बच्चों का बाप था। वह भट्ठे पर काम करने वाली लड़की से शादी करना चाहता था। लड़की के चाचा व भतीजे इस बात का विरोध कर रहे थे। इस बात को लेकर अरुण ने अपने भतीजे आदि को लेकर पतरु पर लाठी डंडो से हमला कर दिया। जिससे पतरु का सिर फट गया और घटना स्थल पर ही दम तोड़ दिया। घटना की सूचना तत्काल ईंट भट्ठा मालिक ने 112 नम्बर पर दिया। सूचना पाते ही कोतवाल गोला सन्तोष कुमार सिंह व सीओ अंजनी कुमार पांडेय घटना स्थल पर पहुचे। शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया। इस घटना में संलिप्त  मुख्य अभियुक्त अरुण सहित अन्य लोगो को गोला पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों के विरुद्ध गोला थाने में मुकदमा अपराध संख्या 261/21 धारा 302 पुलिस ने दर्ज किया है। पकड़े गए अभियुक्तों की पहचान 1. अरुण पुत्र पाली माझी निवासी ग्राम नारी थाना नूरसरया जिला नालन्दा बिहार, 2. दुलार चंद पुत्र अर्जुन माझी निवासी ग्राम फरेतपुर थाना दनिथामा जिला पटना बिहार और 3. शुक्खु पुत्र मुंशी माझी निवासी ग्राम बीबीपुर थाना गौरीचक जिला पटना बिहार के रूप में हुई है।  उपरोक्त तीनों गोला थाना क्षेत्र से नेवास गांव में स्थित ईंट भट्ठे पर कार्य करते हैं। वही पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त मोटा डंडा भी बरामद कर लिया है।

मंडलायुक्त ने मोहल्ला निगरानी समितियों के साथ की बैठक दिया आवश्यक दिशा निर्देश

कोरोना संक्रमण महामारी की रोकथाम के लिए बनाए गए मोहल्ला निगरानी समितियों के साथ गोरखपुर क्लब में मण्डलायुक्त  जयन्त नार्लिकर  की अध्यक्षता में निगरानी समिति की बैठक कर निगरानी समितियों को दिया आवश्यक दिशा निर्देश।उक्त बैठक में मोहल्ला निगरानी समिति के सदस्यों को क्षमता संवर्धन हेतु  मण्डलायुक्त  द्वारा कोरोना संक्रमण से स्वयं को बचाते हुए प्रत्येक घरों पर पहुंच कर लोगों से बात कर यदि किसी को कोरोना सम्बन्धित किसी प्रकार का लक्षण पाये जाने की स्थिति में क्या करना है और क्या उपचार दिया जाना है इसके बारे में लोगों को सचेत करना है, साथ ही शुरुआती लक्षणों के आधार पर उन्हें आवश्यक दवाओं के किट प्रदान करते हुए प्रत्येक दवा के सेवन की विधि एवं समय की जानकारी देना है।

निगरानी समिति के सदस्यों से संवाद करते हुए कहा कि उनका कार्य बहुत महत्वपूर्ण है निगरानी समिति में आशा  एएनएम के साथ साथ क्षेत्रीय पार्षद व क्षेत्रीय लेखपाल  की  भूमिका महत्वपूर्ण है। उन्होंने आशाओं को उ0प्र0सरकार द्वारा भेजी गयी दवाओं के पैक्ड किट ए0डी0 हेल्थ आफिस से उपलब्ध कराने को कहा  साथ ही  आशा एंव आगनबाड़ी कार्यकत्री को गांव व मुहल्ला मे जाने पर पल्स ऑक्सीमीटर का उपयोग कैसे करना है, की ट्रेनिंग देने के निर्देश देते हुए कहा कि गांव मुहल्ला में लक्षण वाले व्यक्तियों की तत्काल कोविड जांच करायी जाये और मरीजों को दिये जाने वाले दवाओं में आयुर्वेद की भी दवा शामिल करने तथा आर.आर.टी. टीम को अनिवार्य रूप से होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की जांच कराने को कहा।

इसे भी पढ़ें: आदित्य शुक्ला: एक युवा जो इस महामारी में निभा रहा है अपनी जिम्मेदारी

 समिति के सभी सदस्य अपने अपने दायित्वों का कर्तव्य निष्ठा के साथ निर्वहन करते हुए कोविड संभावित मरीजों की जांच कर कर अपना महत्वपूर्ण योगदान दें। महापौर सीताराम जायसवाल जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी मुख्य चिकित्साधिकारी सुधाकर पांडेय ने बैठक को सम्बोधित करते हुए निगरानी समिति के सभी सदस्यों को इस कार्य में सहयोग हेतु धन्यवाद दिया तथा स्वयं को सुरक्षित रखते हुए लोगों की सुरक्षा के लिए किए जा रहे उनके प्रयासों की सराहना की।

बैठक में महापौर  सीताराम जायसवाल ,  जिलाधिकारी  के विजेयेन्द्र पाण्डियन , वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी, पुलिस अधीक्षक नगर सोनम कुमार ,एडीएम सिटी राकेश कुमार श्रीवास्तव, नगर मजिस्ट्रेट अभिनव रंजन श्रीवास्तव, नगर आयुक्त अविनाश सिंह ,ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/ एसडीएम सदर कुलदीप मीना, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सुमित महाजन, अपर नगर आयुक्त डीके सिन्हा, सीएमओ सुधाकर पांडेय,  उप नगर आयुक्त  संजय शुक्ला, मुख्य अभियन्ता सुरेश चन्द्र, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा मुकेश कुमार रस्तोगी, सह प्रभारी वाहन  अशोक कुमार सिंह, नगर निगम के समस्त 70 वार्डों के पार्षदगण ,मुख्य सफाई व खाद्य निरीक्षक  अखिलेश कुमार श्रीवास्तव, सफाई निरीक्षक  महेश चन्द्र, एसएस गुप्ता,  राम विजय एवं नगर निगम के समस्त सफाई सुपरवाइजर आशा कार्यकत्री एएनएम एवं आगनबाड़ी कार्यकत्री बैठक में उपस्थित रहे।


25 व 26 मई को होगा ग्राम प्रधान-पंचायत सदस्यों का शपथ ग्रहण

उत्तर प्रदेश में संपन्न हुई पंचायत चुनाव प्रक्रिया के बाद शासन ने नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों व पंचायत प्रतिनिधियों के शपथ ग्रहण कराने की तारीखों का ऐलान किया है. पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने इसे लेकर आदेश भी जारी कर दिया है. जारी आदेश के अनुसार नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान व नवनिर्वाचित पंचायत सदस्यों की शपथ के वर्चुअल कार्यक्रम 25 व 26 मई को आयोजित होंगे. ग्राम पंचायतों के शपथ ग्रहण के साथ ही गठन के बाद ग्राम पंचायतों की पहली बैठक 27 मई को कराए जाने के आदेश भी दिए गए हैं.


अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने जारी किया आदेश:-  

राज्य सरकार के के निर्देश के बाद पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने जारी आदेश में कहा है कि ग्राम पंचायतों के संगठित और निर्वाचित सदस्यों की शपथ कार्यक्रम वर्चुअल माध्यम से कराए जाएंगे शपथ कार्यक्रम में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा।


जिन ग्राम पंचायतों में दो तिहाई सदस्य वहीं होगा गठन:- 

ग्राम पंचायतों में प्रधान और कम से कम दो तिहाई पंचायत सदस्यों का निर्वाचित होना जरूरी है. जिन ग्राम पंचायतों में दो-तिहाई पंचायत सदस्य होंगे. तभी ग्राम पंचायतों का गठन किया जा सकेगा. अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने वर्चुअल रूप ग्राम प्रधानों व पंचायत सदस्यों की शपथ कराने और ग्राम पंचायतों को संगठित कराने को लेकर आदेश दिया है |जारी आदेश में कहा गया है कि जिन ग्राम पंचायतों में शपथ ग्रहण ग्राम प्रधान की होगी और जहां भी दो तिहाई से अधिक ग्राम पंचायत सदस्य होंगे। उन ग्राम पंचायतों का गठन करके इसकी सूचना शासन को 28 मार्च को निर्धारित प्रारूप पर भेज दी जाए|

ग्राम पंचायतों में दो तिहाई से कम सदस्य वहां फिर होगी निर्वाचन प्रक्रिया :- 

जारी आदेश के अनुसार जिन ग्राम पंचायतों में दो तिहाई से कम सदस्य हैं उन ग्राम पंचायतों में दोबारा से पंचायत सदस्यों के निर्वाचन की प्रक्रिया और फिर पंचायतों के गठन की प्रक्रिया पूरी कराई जा सके। जिन ग्राम पंचायतों में 2 तिहाई से अधिक नवनिर्वाचित सदस्य नहीं रहेंगे वहां पर उसकी संख्या शासन को भेजी जाएगी और इसके बाद वहां पर निर्वाचन की प्रक्रिया अलग से पूरी कराई जाएगी जिससे कुल ग्राम पंचायतों में भी विकास के कार्य आगे बढ़ाने को लेकर ग्राम पंचायतों का गठन कराया जा सके।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।