देहरादून के अमर शहीद मेजर दुर्गा मल्ल को संसद भवन में दी जाएगी श्रद्धांजलि

gorkha-shaheed-major-durga-malla-will-pay-tribute
देश के सबसे प्राचीन गोरखा सैनिक संगठन आल इंडिया गोरखा एक्स सोल्जर वेलफेयर एसोसिएशन के संरक्षक पूर्व सांसद तरुण विजय के प्रयासों से यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है जिसमें देश के अनेक भागों से गोरखा सैनिक, सांसद शामिल हो रहे हैं।

देहरादून निवासी और नेताजी सुभाष चंद्र बोस के अनन्य सहयोगी मेजर दुर्गा मल्ल को तरुण विजय के प्रयासों से सोमवार 1 जुलाई की सुबह उनकी 106वीं जयंती के अवसर पर  लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू सहित अनेक मंत्री श्रद्धांजलि देंगे। केंद्रीय मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक और देहरादून की सांसद श्रीमती माला राज्य लक्ष्मी देवी शाह को भी आमंत्रित किया गया है। देश के सबसे प्राचीन गोरखा सैनिक संगठन आल इंडिया गोरखा एक्स सोल्जर वेलफेयर एसोसिएशन के संरक्षक पूर्व सांसद तरुण विजय के प्रयासों से यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है जिसमें देश के अनेक भागों से गोरखा सैनिक, सांसद शामिल हो रहे हैं। संसद में शहीद दुर्गा मल्ल की प्रतिमा प्रधानमंत्री कार्यालय के सामने स्थापित है।

इसे भी पढ़ें: भाजपा ने फिर कहा, जम्मू-कश्मीर से हटना चाहिए धारा 370

तरुण विजय ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस की आज़ाद हिन्द फौज की उखरुल, इम्फाल और चट्टगांव तक पहुँचने तथा ब्रिटिश सेना को भारी क्षति पहुँचाने में गुप्तचर सेवा का बहुत बड़ा योगदान था, जिसे मेजर दुर्गा मल्ल ने संभाला हुआ था। दुर्गा मल्ल का जन्म डोईवाला में हुआ था और उनकी प्रारंभिक शिक्षा गोरखा मिलिट्री इंटर कालेज, देहरादून में हुई थी और बाद में वे नालापानी में रहने लगे थे। संसद भवन में यह ऐतिहासिक कार्यक्रम पहली बार हो रहा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़