बजट सत्र अभिभाषण में बोली राज्यपाल, मेरी सरकार का संकल्प है मध्य प्रदेश को देश का अग्रणी, समृद्ध और सबसे विकसित राज्य बनाना

  •  दिनेश शु्क्ल
  •  फरवरी 22, 2021   18:13
  • Like
बजट सत्र अभिभाषण  में बोली राज्यपाल, मेरी सरकार का संकल्प है मध्य प्रदेश को देश का अग्रणी, समृद्ध और सबसे विकसित राज्य बनाना

राज्यपाल ने कहा कि मुख्यमंत्री कल्याण योजना शुरू कर प्रदेश के किसानों के 4-4 हजार रुपये दिए जा रहे हैं। अब तक 35 लाख किसानों के खाते में 2-2 हजार रुपये ट्रांसफर किए जा चुके हैं। किसानों के खातों में विभिन्न योजनाओं के तहत 83 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए।

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र सोमवार को राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हुआ। इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष का निर्वाचन हुआ। भाजपा विधायक गिरीश गौतम निर्विरोध अध्यक्ष चुने गए। इसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का अभिभाषण शुरू हुआ, जिसमें उन्होंने कहा कि मेरी सरकार का संकल्प है-मध्य प्रदेश को देश का सबसे अग्रणी, सबसे समृद्ध और विकसित राज्य बनाना। मेरी सरकार का ध्येय है अंतिम व्यक्ति के कल्याण के लिए अनवरत कार्य करना लक्ष्य है। शासन की योजनाओं, कार्यक्रमों-नीतियों का लाभ पहुंचाना। प्रतिबद्धता है सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास। 

 

इसे भी पढ़ें: गिरीश गौतम मध्य प्रदेश विधानसभा के निर्विरोध अध्यक्ष निर्वाचित, आज से बजट सत्र शुरू

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि मेरी सरकार ने कोरोना काल में बेहतर काम किया है। ग्यारह माह पहले विषम परिस्थितियों में सरकार ने प्रदेश का कार्यभार संभाला और कोरोना की चुनौती का बेहतर तरीके से सामना किया। पीपीई किट, टेस्टिंग किट और अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के लिए बेड का प्रबंधन समय रहते किया। फ्रंट लाइन वर्कर्स और कोरोना योद्धाओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर जी-जान से काम किया। मुझे सदन को यह बताते प्रसन्नता है कि मेरी सरकार ने अर्थव्यवस्था को पटरी पल लाने और नागरिकों की आजीविका की रक्षा के मोर्चे पर प्रभावी ढंग से काम किया। लॉकडाउन में प्रवासी श्रमिकों के लिए जो व्यवस्थाएं की गईं, उनकी देशभर में सराहना हुई। मुख्यमंत्री प्रवासी मजदूर सहायता योजना लागू कर 1.55 लाख श्रमिकों को खातों में 15.50 करोड़ रुपये की राशि अंतरित की गई। प्रदेश के इतिहास में सबसे बड़े श्रम-सिद्धि अभियान के माध्यम से अकुशल प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार उपलब्ध कराया गया। यह सदन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व और मार्गदर्शन के प्रति आभार व्यक्त करता है, जिन्होंने कोरोना की अग्निपरीक्षा में हमें सफल बनाया।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में नशीली दवा देकर युवती के साथ भाजपा मंडल अध्यक्ष और उसके साथियों ने किया सामूहिक बलात्कार

उन्होंने कहा कि मेरी सरकार ने सीएम हेल्प लाइन योजना का विस्तार किया गया। कोरोना काल में रेहड़ी पटरी वालों का रोजगार खत्म हो गया था। सरकार ने स्ट्रीट वेंडर्स योजना लागू कर 10-10 हजार रुपये बिना ब्याज के लोन उपलब्ध कराकर उन्हें फिर से जीवन यापन का रास्ता खोला। उन्होंने कहा कि सरकार ने भू-माफिया के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई की। इसमें 384 केस भूमाफिया के खिलाफ केस दर्ज किए गए। चिटफंड कपंनियों से 700 करोड़ रुपये पीडि़तों को वापस कराए गए। सरकार ने अभियान चलाकर करीब 8 हजार 800 करोड़ रुपये की अवैध कब्जे की जमीन मुक्त कराई है। मिलावटखोरों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई कर 4 करोड़ से अधकि की मिलावटी खाद्य पदार्थ जब्त किये गये। धर्म स्वातंत्र्य अधिनियम लागू किया गया। अपहरणकर्ताओं के चंगुल से 9 हजार 500 से अधिक बेटियों को छुड़ाकर उनके परिवार तक पहुंचाया गया। भू स्वामित्व योजना लागू की गई, जिसमें ग्रामीणों को जमीन मालिक बनाने का काम सरकार ने किया। 

 

इसे भी पढ़ें: इंदौर में कांग्रेस के संभागीय सम्मेलन में बोले कमलनाथ, प्रदेश में वापस जल्द लहराएगा कांग्रेस का झंडा

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित की।  कृषि कार्य के लिए 22 लाख उपभोक्ताओं को फ्लेट दरों पर और गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले 8 लाख कृषकों को निशुल्क बिजली दी जा रही है। प्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा की स्थापित क्षमता में दस गुना वृद्धि हुई है। मेरी सरकार ने गांवों के सर्वांगीण विकास के लिए दो हजार किमी सडक़ों और 208 पुलों का निर्माण कराया। मुख्यमंत्री शहरी पेयजल योजना में 118 नगरीय निकायों में 1512 करोड़ 99 लाख की जल प्रदाय योजनाएं पूरी की गई, जबकि 435 करोड़ की 37 परियोजनाएं प्रगति पर हैं। 

 

इसे भी पढ़ें: शादी का झांसा देकर युवती से दुष्कर्म, पुलिस ने किया आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज

राज्यपाल ने कहा कि मुख्यमंत्री कल्याण योजना शुरू कर प्रदेश के किसानों के 4-4 हजार रुपये दिए जा रहे हैं। अब तक 35 लाख किसानों के खाते में 2-2 हजार रुपये ट्रांसफर किए जा चुके हैं। किसानों के खातों में विभिन्न योजनाओं के तहत 83 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए।  

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी जी के नेतृत्व में देश तेजी से आगे बढ़ रहा है। मेरी सरकार ने शिक्षा, स्वास्थय से लेकर समाज की मूलभूत आवश्यकताओं का ध्यान केन्द्रित कर हर वर्ग के हित में काम किया है। आयुष चिकित्सा सुविधाओं को बढ़ावा देने के लिए चार 50 विस्तरीय पंचकर्म सुर स्पेशलिटी अस्पतालों का निर्माण किया जा रहा है। लाड़ली लक्ष्मी योजना में अब तक 37 लाख से अधिक बालिकाओं को लाभान्वित कर 8 हजार करोड़ रुपये से अधिका का व्यय किया गया है। नई शिक्षा निती के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए सीएम राइज योजना के माध्यम से प्रदेश के 9 हजार 200 सर्वसंसाधन संपन्न विद्यालयों की स्थापना की कार्ययोजना है। अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, घुमक्कड़,-अर्धघुमक्कड़ व अन्य पात्र विद्यार्थियों को 676 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति वितरिक की गई। 

 

इसे भी पढ़ें: देश का पहला सौर-ऊर्जा आत्मनिर्भर गांव बना मध्य प्रदेश का बाचा ग्राम

उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के अंतर्गत राज्य सरकार सहकारिता के क्षेत्र में सामान्य सुविधा केन्द्र के रूप में 1 हजार 800 पैक्स सहकारी समितियों का चयन किया गया है। रोजगार के अवसरों को बढ़ाया जा रहा है। स्व-सहायता समूहों के माध्यम से परिवारों को रोजगार से जोड़ा जा रहा है। पथविक्रेताओं कोलगभग 115 करोड़ रुपये का ब्याजमुक्त कर्ज वितरित किया गया है। कोरोना महामारी के दौरान 17 वृहद उद्योग स्थापित हुए, जिनमें 1 हजार 231 करोड़ का निवेश हुआ और 4832 व्यक्तियों को रोजगार मिला। श्रमिकों के हित संरक्षक के लिए मुख्यमंत्री जन-कल्याण संबल योजना में 456 करोड़ रुपये की सहायता राशि दी गई। योजना में 01 लाख 90 हजार गरीब लाभान्वित हुए। इसके अलावा राज्यपाल ने अन्य योजनाओं का भी जिक्र किया। राज्यपाल के अभिभाषण के बाद विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम में सदन की कार्यवाही मंगलवार को सुबह 11.00 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


भाजपा राज में महिलाएं सुरक्षित नहीं, महिला अपराध में प्रदेश नंबर एक परः कमलनाथ

  •  दिनेश शुक्ल
  •  मार्च 8, 2021   22:11
  • Like
भाजपा राज में महिलाएं सुरक्षित नहीं, महिला अपराध में प्रदेश नंबर एक परः कमलनाथ

उन्होंने कहा कि महिलाएं ही है जिन्होंने प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने में निर्णायक भूमिका निभायी थी, महिलाएं चाहती थी प्रदेश में उनको उनका हक मिले, उनको सम्मान मिले। उन्होंने कहा कि मैंने महिलाओं के लिए कई योजनाएं चलाने की शुरूआत की थी

भोपाल। भाजपा राज में आज महिलाएं, बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं, अपराधी सरकार के संरक्षण में राह चलती महिलाओं को अपना शिकार बना रहे हैं, दुष्कर्म की घटनाओं का ग्राफ पूरे देश के मुकाबले मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा बढ़ रहा है। महिला अपराध में मध्य प्रदेश पहले पायदान पर है। जब हमारे प्रदेश की बहन-बेटियां ही सुरक्षित नहीं रहेंगी तो प्रदेश किस और जा रहा है यह प्रदेश के जनता के लिए बेहद चिंतनीय हैं। उक्त बात सोमवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर राजधानी भोपाल स्थित कांग्रेस कार्यालय के प्रांगण में महिला कांग्रेस द्वारा आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में कही।

 

इसे भी पढ़ें: महिला स्व-सहायता समूहों के उत्पादों को 'लोकल टू वोकल' बनाने के होंगे प्रयास : शिवराज सिंह चौहान

उन्होंने कहा कि महिलाएं ही है जिन्होंने प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने में निर्णायक भूमिका निभायी थी, महिलाएं चाहती थी प्रदेश में उनको उनका हक मिले, उनको सम्मान मिले। उन्होंने कहा कि मैंने महिलाओं के लिए कई योजनाएं चलाने की शुरूआत की थी, जिससे महिलाओं को सम्मान और उनका हक मिलता। लेकिन भाजपा के लोगों में सत्ता की भूख थी, कुर्सी की भूख थी और साम-दाम-दंड-भेद की स्वार्थपूर्ण राजनीति कर विधायकों की बोली लगाकर, खरीद-फरोख्त कर चलती हुई सरकार को गिरा दिया। आज भाजपा राज में न तो महिलाएं सुरक्षित हैं और ना ही बहन-बेटियां। प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार, दुष्कर्म के मामले बढ़ रहे हैं और मुख्यमंत्री हाथ पर हाथ रखे बैठे हैं।

 

इसे भी पढ़ें: समाज के हर क्षेत्र का गौरव बढ़ा रही हैं महिलाएं : विष्णुदत्त शर्मा

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा विधानसभा चुनाव हो गये, लोकसभा चुनाव हो गये और अब नगरीय निकाय के चुनाव आ रहे हैं। प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव अभी करा लिये जाये तो सब कुछ सामने आ जायेगा। प्रदेश में पेट्रोल-डीजल के दाम, रसोई गैस के दाम, महंगाई इतनी बढ़ रही है कि प्रदेश की जनता इनका असली चेहरा जानने लगी है, समझने लगी है। इसलिए ये चुनाव कराने के पक्ष में नहीं है और कोराना का डर दिखाकर चुनाव को टलवाते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यदि यही स्थिति रही तो प्रदेश में भय, आतंक का वातावरण निर्मित हो जायेगा। महिलाएं, बहन-बेटियां घरों से निकलने में हिचकिचायेंगी। जीवन के दो पहिये होते हैं यदि एक पहिया ही रूक जायेगा तो घर-परिवार कैसे चलेगा। महिलाएं परिवार का वो पहिया होती हैं, जिससे जीवन चलता है। उन्होंने कहा कि आने वाले चुनाव में सच्चाई का साथ देकर कांग्रेस को मजबूत करें और प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में कांग्रेस का परचम लहरायें। इस अवसर पर उन्होंने महिला दिवस पर विभिन्न क्षेत्रों की महिलाओं का शॉल-श्रीफल और पुरूस्कार वितरण कर उनका सम्मान किया।

 

इसे भी पढ़ें: पूर्व प्रदेश अध्यक्ष स्व. नंदकुमार सिंह चौहान को श्रद्धांजलि देने सभा का आयोजन 9 को

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर विशेष अतिथि के तौर दिल्ली से आयी प्रभारी अलका लाम्बा ने प्रदेश की शिवराज सरकार को आड़े हाथों लेते हुऐ कहा कि प्रदेश में महिलाओं पर बढ़ रहे अत्याचार, दुष्कर्म, उत्पीडन, और बढ़ती हुई महंगाई पर रोक लगाने मे शिवराज सरकार नाकाम हैं। केंद्र और प्रदेश में भाजपा की सरकारें हैं, राज्यपाल उनकी पार्टी के हैं फिर भी मध्य प्रदेश में अपराध कम नहीं हो रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


महिला स्व-सहायता समूहों के उत्पादों को 'लोकल टू वोकल' बनाने के होंगे प्रयास : शिवराज सिंह चौहान

  •  दिनेश शुक्ल
  •  मार्च 8, 2021   21:54
  • Like
महिला स्व-सहायता समूहों के उत्पादों को 'लोकल टू वोकल' बनाने के होंगे प्रयास : शिवराज सिंह चौहान

हुनर-हाट में प्रदेश के 38 जिलों के स्व-सहायता समूहों ने 71 स्टॉल लगाये हैं। हस्त शिल्प, हैंडलूम, खाद्य सामग्री और कोदो व्यंजन का स्टॉल 'अनदाई' आज से ही बहुत लोकप्रिय हो रहे हैं। तेजस्वनी कार्यक्रम, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन एवं शहरी आजीविका मिशन के गठित महिला स्व-सहायता समूहों ने हुनर हाट में भाग लिया है।

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा प्रदेश के स्व-सहायता समूहों द्वारा उत्पादित सामग्री गुणवत्ता के साथ हर दृष्टि से बहुत अच्छी है। इसकी मार्केटिंग और ब्रांडिंग के प्रयास किये जायेंगे। राज्य शासन इनके उत्पादों को 'लोकल टू वोकल' बनाने के लिये प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा बेटियां किसी से कम नहीं है, वे स्वयं समाज की सुरक्षा करते हुए न्याय की लड़ाई लड़ सकती हैं। उक्‍त बातें मुख्यमंत्री चौहान ने सोमवार को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर भोपाल हाट में 'हुनर हाट' का शुभारंभ करते हुए कही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी साधना सिंह और संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर भी उपस्थित रहीं।

इसे भी पढ़ें: समाज के हर क्षेत्र का गौरव बढ़ा रही हैं महिलाएं : विष्णुदत्त शर्मा

'अपराजिता' 23 हजार बालिकाओं को मिलेगी मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग

मुख्यमंत्री चौहान ने बालिकाओं की सुरक्षा के लिये 'अपराजिता' कार्यक्रम का शुभारंभ भी भोपाल हाट में किया। इसमें प्रदेश के सभी जिलों से 23 हजार बालिकाओं को 15 से 21 दिन का मार्शल आर्ट प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्टतम प्रदर्शन करने वाली बालिकाओं का भोपाल में पुन: उच्च स्तरीय प्रशिक्षण होगा। इस अवसर पर भोपाल के मार्शल आर्ट प्रतिभागियों ने कला का प्रदर्शन भी किया। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आज हर क्षेत्र में महिलाएं सफलतापूर्वक आगे आ रही हैं।

कोदो व्यंजन का 'अनदाई' पोर्टल शुरू

मुख्यमंत्री चौहान ने मोटे और पौष्टिक अनाज कोदो पर आधारित व्यंजनों के 'अनदाई' पोर्टल, 'अनदाई' पुस्तक और वन स्टॉप सेंटर पुस्तिका का विमोचन किया। मुख्यमंत्री चौहान, साधना सिंह और संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर ने 'अनदाई' (डिंडौरी) की महिलाओं द्वारा कोदो से तैयार डोसा, इडली, मूज, खिचड़ी, रोल और बिस्किट आदि व्यंजनों का आस्वादन कर भूरी-भूरी प्रशंसा की। मुख्यमंत्री चौहान ने प्रशिक्षण प्राप्त महिलाओं और प्रशिक्षक से चर्चा कर व्यंजनों की तारीफ की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोदो के व्यंजन अद्भुत, पौष्टिक और स्वादिष्ट भी हैं। उन्होंने प्रदेश के लोगों से इन स्वादिष्ट व्यंजनों का लुत्फ उठाने की अपील भी की।

 

इसे भी पढ़ें: पूर्व प्रदेश अध्यक्ष स्व. नंदकुमार सिंह चौहान को श्रद्धांजलि देने सभा का आयोजन 9 को

हितग्राहियों को ऋण चेक सौंपे

मुख्यमंत्री चौहान ने सेंट्रल बैंक, स्टेट बैंक, एचडीएफसी, पंजाब एण्ड सिंध बैंक सहित अन्य बैंकों के स्टॉल पर विभिन्न हितग्राहियों को प्रतीक स्वरूप चेक भी भेंट किये। इनमें से किसी ने स्व-रोजगार स्थापना, किसी ने पढ़ाई और किसी ने सब्जी ठेला लगाने के लिये ऋण लिया।

स्टॉलों का किया अवलोकन

मुख्यमंत्री चौहान ने पत्नी श्रीमती साधना सिंह के साथ सभी स्टॉल पर जाकर अवलोकन किया और खरीददारी भी की। मुख्यमंत्री ने समूहों द्वारा तैयार किये गये फैशन ज्वैलरी देखी और उत्पाद की बिक्री के संबंध में जानकारी भी ली।

सायकल चलाकर आईं बालिकाओं को सराहा

मुख्यमंत्री चौहान ने बीना से भोपाल लगभग 185 किलोमीटर सायकल चलाकर आईं काजल, आस्था और संजना की प्रशंसा की और उन्हें जीवन में नये कीर्तिमान स्थापित करने की शुभकामनाएँ दी। बालिकाओं की उम्र 15 से 16 वर्ष है और वे कक्षा 11वीं एवं 12वीं की छात्रा हैं।

मुख्यमंत्री ने हाथ चक्की से पीसा कोदो और श्रीमती चौहान ने फटका

मुख्यमंत्री चौहान ने डिंडौरी जिले के स्व-सहायता समूह के स्टॉल पर परंपरागत हाथ चक्की से कोदो पीसा, मूसल से कोदो कूटा और श्रीमती साधना सिंह ने सूप से फटका। स्व-सहायता की महिलाओं ने बताया कि कोदो के आटे से बिस्किट तैयार करते हैं, जो रोज 100 से 150 किलो तक बिक भी जाते हैं। साधना सिंह ने लॉकडाउन के दौरान बड़े स्तर पर मास्क बनाने वाले उमरिया जिले के स्व-सहायता समूह की तारीफ भी की।

बालश्री अवार्ड भेंट

मुख्यमंत्री चौहान ने तान्या शर्मा, सोभी जैन, साक्षी पंडोले, आन्या केकरे और तनिष्क सिंह राठौर को बालश्री अवार्ड से सम्मानित किया। मुख्यमंत्री चौहान ने आज सुबह हुए साइक्लोथान में क्रमश: प्रथम से पंचम स्थान प्राप्त ममता मिश्रा, प्रीति मेघवानी, राशि, बिंदिया और आद्या सिंह को भी सम्मानित किया।

इसे भी पढ़ें: महिलाएं भगवान का रूप जब हम मुश्किल में होते है, तब हम भगवान की गोद में होते हैं- डॉ सुदाम खाड़े

बालिका ने भेंट की हाथ से बनाई तस्वीर

हुनर-हाट में भोपाल की बालिका शीतल गुप्ता ने अपने हाथ से जलरंगों से बनाया मुख्यमंत्री का पॉट्रेट शिवराज सिंह चौहान को भेंट किया। शीतल ने बताया कि उसने यह पॉट्रेट मुख्यमंत्री के जन्म-दिन पर बनाया है। मुख्यमंत्री चौहान ने बालिका शीतल के हुनर की तारीफ की। कार्यक्रम में जवाहर बाल भवन के बच्चों ने देशभक्ति पर आधारित नृत्य नाटिका प्रस्तुत की। अपर मुख्य सचिव ग्रामीण विकास मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव, महिला एवं बाल विकास अशोक शाह, संचालक श्रीमती स्वाति मीना नायक, आयुक्त जनसम्पर्क डॉ. सुदाम खाड़े और आजीविका मिशन संचालक एल.एम. बेलवाल सहित बड़ी संख्या में नागरिक एवं महिलाएँ उपस्थित थीं।

हुनर हाट 3 दिन चलेगा

हुनर-हाट में प्रदेश के 38 जिलों के स्व-सहायता समूहों ने 71 स्टॉल लगाये हैं। हस्त शिल्प, हैंडलूम, खाद्य सामग्री और कोदो व्यंजन का स्टॉल 'अनदाई' आज से ही बहुत लोकप्रिय हो रहे हैं। तेजस्वनी कार्यक्रम, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन एवं शहरी आजीविका मिशन के गठित महिला स्व-सहायता समूहों ने हुनर हाट में भाग लिया है। कोदो कुटकी से निर्मित व्यंजनों का लाइट फूड कार्नर हुनर हाट में आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


समाज के हर क्षेत्र का गौरव बढ़ा रही हैं महिलाएं : विष्णुदत्त शर्मा

  •  दिनेश शुक्ल
  •  मार्च 8, 2021   21:15
  • Like
समाज के हर क्षेत्र का गौरव बढ़ा रही हैं महिलाएं : विष्णुदत्त शर्मा

कार्यक्रम में मेहनत और योग्यता के आधार पर समाज में विशिष्ट स्थान बनाने वाली महिलाओं और युवतियों को सम्मानित किया गया। इनमें श्रीमती हीराबाई, श्रीमती शकुंलता रैकवार, सुश्री शेफाली पाण्डे, सुश्री बिट्टू शर्मा, सुश्री पान बाई, श्रीमती भूरीबाई, डॉ. आभा जैन, श्रीमती सीमा सिंह,श्रीमती रचना त्यागी, सुश्री नीतू शर्मा, सुश्री दीपा सोनी, सुश्री कल्पना केलकर, सुश्री मेघा परमार शामिल हैं।

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष एवं सांसद विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि दुनिया का कोई क्षेत्र ऐसा नहीं है, जहां महिलाएं किसी न किसी भूमिका में न हों।अनेक क्षेत्रों में महिलाएं सशक्त भूमिकाओं में हैं। महिलाएं आज समाज के हर क्षेत्र का गौरव बढ़ा रही हैं। उन्होंने यह बात सोमवार को भारतीय जनता पार्टी जिला भोपाल के तत्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित महिला सम्मान समारोह को संबोधित करते हुये कही। भोपाल के तुलसी मानस प्रतिष्ठान में आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने वालीं महिलाओं एवं युवतियों को सम्मानित भी किया गया। 

 

इसे भी पढ़ें: पूर्व प्रदेश अध्यक्ष स्व. नंदकुमार सिंह चौहान को श्रद्धांजलि देने सभा का आयोजन 9 को

कार्यक्रम को संबोधित करते हुये विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि आज जिस प्रकार देश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी और प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी द्वारा महिला सशक्तीकरण के अभियान चलाए जा रहे हैं, उसी प्रकार भारतीय जनता पार्टी के संगठन में भी महिलाओं को उचित स्थान देने के प्रयास किये जाते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा में भी कई पद हैं जिनका नेतृत्व महिलाएं कर रही हैं। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने महिला सशक्तीकरण के अभियान को बढ़ाने का संकल्प लेते हुये मातृशक्ति को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं दीं।

 

इसे भी पढ़ें: महिलाएं भगवान का रूप जब हम मुश्किल में होते है, तब हम भगवान की गोद में होते हैं- डॉ सुदाम खाड़े

इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती सीमा सिंह, प्रदेश महामंत्री भगवानदास सबनानी, विधायक श्रीमती कृष्णा गौर, जिलाध्यक्ष सुमित पचौरी, प्रदेश प्रवक्ता सुश्री राजो मालवीय, सुश्री सरिता देशपांडे, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष श्रीमती हंसकुंवर, सुश्री तुलसा वर्मा, श्रीमती सविता यादव, श्रीमती मालती राय मौजूद थी। कार्यक्रम का संचालन सुश्री वर्षा श्रीवास्तव ने किया। 

इनका हुआ सम्मान

कार्यक्रम में मेहनत और योग्यता के आधार पर समाज में विशिष्ट स्थान बनाने वाली महिलाओं और युवतियों को सम्मानित किया गया। इनमें श्रीमती हीराबाई, श्रीमती शकुंलता रैकवार, सुश्री शेफाली पाण्डे, सुश्री बिट्टू शर्मा, सुश्री पान बाई, श्रीमती भूरीबाई, डॉ. आभा जैन, श्रीमती सीमा सिंह,श्रीमती रचना त्यागी, सुश्री नीतू शर्मा, सुश्री दीपा सोनी, सुश्री कल्पना केलकर, सुश्री मेघा परमार शामिल हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept