भारत सरकार की BRAP 2020 रिपोर्ट में गुजरात की बड़ी छलांग, टॉप अचीवर्स में हुआ शामिल

Bhupendrabhai Patel
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने कहा कि राज्य में व्यवसाय और सुगम व सुलभ हो इसके लिए हम नियामक अनुपालन बोझ को लगातार कम से कम करने का प्रयास कर रहे हैं। अब तक हमने 2900 से अधिक अनुपालनों को कम किया है जिससे राज्य में व्यवसाय स्थापित करने में सुगमता और सरलता बढ़ी है।

नई दिल्ली। केन्द्रीय वित्त एवं कंपनी कार्य मंत्री मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग, उपभोक्ता मामले, खाद्य तथा सार्वजनिक वितरण एवं कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल की उपस्थिति में बिजनेस रिफॉर्म एक्शन प्लान (BRAP) 2020 रिपोर्ट जारी की। इसमें उन्होंने गुजरात को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मूल्यांकन में 'टॉप अचीवर्स' के रूप में स्थान दिया है। इस रिपोर्ट में ‘टॉप अचीवर्स’ की श्रेणी में गुजरात के साथ-साथ आंध्र प्रदेश, हरियाणा, कर्नाटक, पंजाब, तमिलनाडु, और तेलंगाना राज्य भी शामिल हैं। 

इसे भी पढ़ें: 'गुजरात भाजपा का प्रतिनिधिमंडल गलत मंशा से आया था दिल्ली', सिसोदिया बोले- केजरीवाल मॉडल ऑफ गवर्नेंस में कमियां ढूंढना मुश्किल 

आंध्र प्रदेश के बाद गुजरात दूसरे स्थान पर

गुजरात ने इस रिपोर्ट में फीडबैक कैटगरी में भी 90% के स्कोर के साथ देश में दूसरा स्थान हासिल किया है। इस कैटगरी में पहला स्थान आंध्र प्रदेश ने हासिल किया है। यह उल्लेखनीय है कि फीडबैक की कैटगरी में गुजरात ने पिछली रैकिंग की तुलना में 8 पायदान की छलाँग लगाई है। DPIIT के फीडबैक आधारित प्रक्रिया के तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा किए जा रहे सुधारों के कार्यान्वयन की गुणवत्ता पर कंपनियों से फीडबैक लिया जाता है। यह उल्लेखनीय है कि गुजरात देश के उन दो राज्यों में से एक है, जिसने DPIIT के 301 सुधारों के कार्यान्वयन का 100% अनुपालन किया है।

इस महत्वपूर्ण उपलब्धि पर गुजरात के मुख्ययमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने कहा, ‘‘राज्य में व्यवसाय और सुगम व सुलभ हो इसके लिए हम नियामक अनुपालन बोझ को लगातार कम से कम करने का प्रयास कर रहे हैं। अब तक हमने 2900 से अधिक अनुपालनों को कम किया है जिससे राज्य में व्यवसाय स्थापित करने में सुगमता और सरलता बढ़ी है। BRAP 2020 में गुजरात का टॉप अचीवर्स में आना यह दिखाता है कि हम सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। हम प्रधानमंत्री जी के आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को साकार करने के लिए पूर्ण रूप से प्रयासरत हैं। हमारा लक्ष्य है कि औद्योगिक क्षेत्र में हम गुजरात को देश का ही नहीं बल्कि विश्व का एपीसेंटर बनाएँ। ‘टीम गुजरात’ को मेरी तरफ से बहुत-बहुत बधाई।’’

राहुल गुप्ता (IAS), उद्योग आयुक्त, गुजरात सरकार, ने उद्योग क्षेत्र में सुधार की दिशा में राज्य सरकार के प्रयासों के बारे में बात करते हुए कहा, ‘‘EoDB रैकिंग यूजर फीडबैक पर आधारित है और राज्य में सुधारों के जमीनी क्रियान्वयन पर केंद्रित है। राज्य सरकार ने IFP पर आवेदकों से निरंतर प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिए एक स्टार रेटिंग तंत्र की शुरुआत की है। यह सरकार को उपयोगकर्ताओं की चिंताओं को दूर करने के साथ-साथ मौजूदा प्रणालियों और प्रक्रियाओं में सुधार करने की सुविधा देती है। हमारे इन्हीं प्रयासों के अनुरूप ही गुजरात ने BRAP 2020 में फीडबैक की कैटगरी में 8 पायदान की छलाँग लगाकर दूसरा स्थान हासिल कर एक बड़ी उपलब्धि अपने नाम की है। इस कैटगरी में हमने 90% से अधिक का स्कोर हासिल किया है।’’ 

इसे भी पढ़ें: जलभराव को लेकर तंज कसते हुए अखिलेश ने कहा, ‘‘कुछ दिन तो तैरिए गोरखपुर में’’ 

BRAP 2020 में पहली बार क्षेत्रवार सुधारों को किया गया शामिल

DPIIT ने BRAP के अपने 5वें संस्करण में 301 सुधार बिंदुओं पर भारत के सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों का मूल्यांकन किया है। इसमें उन्होंने 15 क्षेत्रों जैसे इन्वेस्टमेन्ट इनेबलर्स, ऑनलाइन सिंगल विंडो सिस्टम, लेबर रेगुलेशन इनेबलर्स, कॉमर्शियल डिस्प्यूट रिज़ॉल्यूशन आदि को शामिल किया है। इसके अलावा BRAP 2020 में पहली बार क्षेत्रवार सुधार प्रस्तुत किए गए हैं जिनमें 9 प्रमुख सेक्टरों अर्थात व्यापार लाइसेंस, स्वास्थ्य देखभाल, लीगत मेट्रोलॉजी, सिनेमा हॉल, आतिथ्य, फायर एनओसी, दूरसंचार, मूवी शूटिंग तथा पर्यटन में 72 सुधारों की पहचान की गई है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़