गुरुग्राम: रक्त केंद्र का लाइसेंस हासिल करने के लिए फर्जी दस्तावेज पेश करने पर मामला दर्ज

Gurugram Case
ANI
हरियाणा के खाद्य और औषधि प्रशासन ने रक्त केंद्र का लाइसेंस लेने के लिए फर्जी दस्तावेज पेश करने के आरोप में हिसार के एक निवासी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की। पुलिस के अनुसार, इन दस्तावेजों में आरोपी संदीप कुमार ने खुद को गुरुग्राम के सेक्टर 90 स्थित आरवी हेल्थकेयर एन्ड सुपरस्पेशलिटी अस्पताल का प्रबंधक बताया।

गुरुग्राम। हरियाणा के खाद्य और औषधि प्रशासन ने रक्त केंद्र का लाइसेंस लेने के लिए फर्जी दस्तावेज पेश करने के आरोप में हिसार के एक निवासी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की। पुलिस के अनुसार, इन दस्तावेजों में आरोपी संदीप कुमार ने खुद को गुरुग्राम के सेक्टर 90 स्थित आरवी हेल्थकेयर एन्ड सुपरस्पेशलिटी अस्पताल का प्रबंधक बताया। पुलिस ने कहा कि कुमार ने अस्पताल के नाम पर लाइसेंस के लिए आवेदन किया था और अस्पताल ने उक्त केंद्र के लिए किसी तरह का आवेदन करने की बात से इनकार किया है।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री धामी ने विधानसभा में तदर्थ नियुक्तियों को रद्द करने के निर्णय का स्वागत किया

अस्पताल ने 15 सितंबर को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी और आरोप लगाया था कि कोई अज्ञात व्यक्ति उसके स्टेशनरी, चिकित्सकों तथा निदेशकों के हस्ताक्षर का दुरुपयोग कर रहा है। शिकायत के आधार पर कुमार के विरुद्ध खेरकी दौला पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया।

इसे भी पढ़ें: झारखंड में जनवरी 2020 से अगस्त 2022 के बीच 27 नक्सली मारे गए, 1131 गिरफ्तार

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बृहस्पतिवार को जारी एक प्रेस वार्ता में कहा कि रक्त केंद्रों को कानून के दायरे में रहकर काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि अवैध गतिविधियों में लिप्त लोगों और रक्त केंद्रों के साथ कड़ाई से पेश आया जाएगा। विज ने कहा कि राज्य सरकार ने अब तक नौ प्राथमिकी दर्ज की हैं और 15 रक्त केंद्रों के लाइसेंस निलंबित कर दिए हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़