• स्वास्थ्य सुविधाओं को जांचने के लिए खुद डिस्पेंसरी पहुंच गए स्वास्थ्य मंत्री, अगले दिन डॉक्टर का किया सम्मान

अंकित सिंह Sep 02, 2021 22:02

डॉक्टरों के इस व्यवहार से स्वास्थ्य मंत्री बेहद खुश हुए। अगले दिन इलाज करने वाले डॉक्टर को बुलाकर स्वास्थ्य मंत्री ने सम्मानित किया। इस दौरान उन्होंने डॉक्टर को पत्र भी लिखा।

देश में कोरोना महामारी के बीच स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया लगातार अस्पतालों को लेकर समीक्षा बैठक कर रहे हैं। इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्री कई अस्पतालों का औचक निरीक्षण भी कर रहे हैं और वहां सुविधाओं का जायजा ले रहे हैं। इन सबके बीच स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया बुधवार रात लगभग 11:30 बजे दिल्ली के एक अस्पताल में खुद मरीज बनकर पहुंचे। उन्होंने अपना बदला हुआ नाम भी बताया। इस दौरान सीजीएचएस के डॉक्टरों ने उनकी सेहत का अच्छे से देखभाल किया।

डॉक्टरों के इस व्यवहार से स्वास्थ्य मंत्री बेहद खुश हुए। अगले दिन इलाज करने वाले डॉक्टर को बुलाकर स्वास्थ्य मंत्री ने सम्मानित किया। इस दौरान उन्होंने डॉक्टर को पत्र भी लिखा। पत्र में उन्होंने लिखा कि मुझे खुशी है कि आपने बहुत अच्छे ढंग से मुझ से बातचीत की। मेरी समस्याओं को समझा। मेरी दिक्कतों के बारे में अपनी राय दी और मेरा इलाज किया। इस दौरान मैंने पाया कि आपका यह सेवा भाव सीजीएचएस के डॉक्टर से अपेक्षित व्यवहार के अनुकूल था और उसके लिए मैं आपकी सराहना करता हूं।

इसे भी पढ़ें: नागपुर में तीन-चार सितंबर को होगी आरएसएस की समन्वय बैठक, आनुषांगक संगठन भी होंगे शामिल

अपने पत्र में स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी कहा कि आपकी विनम्रता, कर्तव्यनिष्ठा, विशेषज्ञता और अपने कर्म के प्रति समर्पण देशभर में काम कर रहे डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को प्रेरणा देने वाली है। उन्होंने लिखा कि अगर देश के सभी सीजीएचएस डॉक्टर, स्वास्थ्य कर्मी अपने यहां आने वाले मरीजों का इलाज इसी संवेदना के साथ करें तो हम सब मिलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वस्थ भारत का सपना पूरा कर पाएंगे।