कोरोना के ऊपर अब मौसम की मार, राजस्थान के अनेक हिस्सों में लू की चेतावनी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2021   16:38
कोरोना के ऊपर अब मौसम की मार, राजस्थान के अनेक हिस्सों में लू की चेतावनी

मौसम विभाग ने आगामी 48 घंटे में राज्य के कई हिस्सों में लू चलने की चेतावनी जारी की है। वहीं बीते चौबीस घंटे में में भरतपुर में अधिकतम तापमान 45.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

जयपुर। मौसम विभाग ने आगामी 48 घंटे में राज्य के कई हिस्सों में लू चलने की चेतावनी जारी की है। वहीं बीते चौबीस घंटे में में भरतपुर में अधिकतम तापमान 45.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम केंद्र, जयपुर के अनुसार पिछले 24 घंटों में सर्वाधिक अधिकतम तापमान भरतपुर में 45.4 डिग्री वगंगानगर में 44.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। केन्द्र के अनुसार अगले 48 घंटों में उत्तरी राजस्थान के बीकानेर, जयपुर तथा भरतपुर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं लू चलने का अनुमान है जबकि 30 अप्रैल से तापमान में 2-3 डिग्री सेल्सियस की गिरावट हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: केंद्र ने हरियाणा के लिए दैनिक ऑक्सीजन का कोटा बढ़ाकर 232 मीट्रिक टन किया : विज

केंद्र ने 28-29 अप्रैल को जोधपुर, बीकानेर संभाग में कहीं-कहीं20-30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने का अनुमान व्यक्त किया है। केन्द्र के अनुसार 29 अप्रैल से एक नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से जोधपुर और उदयपुर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बादल गरजने व अचानक तेज हवाओं/ आंधी के साथ हल्के दर्जे की बारिश होने का अनुमान है।

इसे भी पढ़ें: अब COVID अस्पताल ढूँढना हुआ और आसान, True caller ने जारी की डायरेक्ट्री

वहीं, 30 अप्रैल को जोधपुर, बीकानेर, अजमेर, जयपुर संभाग के जिलों में भी दोपहर के बाद 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धूल भरी आंधी चलने व हल्के दर्जे की बारिश होने का अनुमान है। इसका असर 1-2 मई के दौरान राज्य के उत्तरी भागों में बना रहेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।