हेमंत सोरेन ने कहा- यूक्रेन से वापस आने वाले झारखंडियों को सरकार देगी टिकट का पैसा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 26, 2022   19:39
हेमंत सोरेन ने कहा- यूक्रेन से वापस आने वाले झारखंडियों को सरकार देगी टिकट का पैसा

ऐसे ही एक मामले में गोड्डा के विश्वनाथ दास ने मुख्यमंत्री को लिखा था, मैं गोड्डा का रहने वाला विश्वनाथ दास हूं और मेरा बेटा आदित्यराज यूक्रेन के एक विश्वविद्यालय में मेडिकल की पढ़ाई कर रहा है, उसे कृपया शीघ्र वापस लाने का प्रबंध करवायें।

रांची, यूक्रेन संकट के चलते वहां से वापस आने वाले राज्यवासियों को मदद देने की घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि संकट में फंसे ऐसे लोगों को टिकट की राशि झारखण्ड सरकार भुगतान करेगी। सोरेन ने ट्वीट किया, यूक्रेन संकट के बीच अपने निजी खर्च से झारखण्ड वापस आने वाले राज्यवासियों के टिकट की राशि झारखण्ड सरकार देगी। मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट कहा कि राज्य सरकार, केंद्र सरकार के साथ मिलकर यूक्रेन में फंसे सभी राज्यवासियों को हर संभव मदद पहुँचाने का काम कर रही है। इससे पूर्व शुक्रवार को भी मुख्यमंत्री ने यूक्रेन में फंसे लोगों को मदद का भरोसा दिया था।

यूक्रेन संकट के पहले दिन 24 फरवरी को मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर केन्द्र सरकार से अपील की थी कि वह युद्धग्रस्त यूक्रेन में फंसे भारतीय छात्रों एवं अन्य लोगों की मदद करें। मुख्यमंत्री ने ट्वीट में अपने राज्य के छात्रों एवं नागरिकों की कठिनाइयों का उल्लेख करते हुए कहा था, कृपया आदित्य राज तथा देश से पढ़ाई अथवा काम करने यूक्रेन गए अन्य लोगों की मदद करें।’’ इससे पूर्व राज्य के अनेक लोगों ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री से अपने बच्चों तथा सगे संबन्धियों को यूक्रेन से वापस लाने में मदद मांगी थी। ऐसे ही एक मामले में गोड्डा के विश्वनाथ दास ने मुख्यमंत्री को लिखा था, ‘‘मैं गोड्डा का रहने वाला विश्वनाथ दास हूं और मेरा बेटा आदित्यराज यूक्रेन के एक विश्वविद्यालय में मेडिकल की पढ़ाई कर रहा है, उसे कृपया शीघ्र वापस लाने का प्रबंध करवायें।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...