कितना खतरनाक है कोरोना का नया वेरिएंट 'Omicron', जानें इसके बारे में सब कुछ

कितना खतरनाक है कोरोना का नया वेरिएंट 'Omicron', जानें इसके बारे में सब कुछ

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कोरोना पर एडवाइजरी ग्रुप की बैठक हुई थी जिसमें कोरोना के नए वेरिएंट B.1.1.529 पर चर्चा हुई। डब्ल्यूएचओ की तरफ से कहा गया है कि नया वेरिएंट बेहद तेजी से फैलता है। डब्ल्यूएचओ ने इसे चिंताजनक करार दिया है।

दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ने एक बार फिर लोगों के लिए नई मुसीबत खड़ी कर दी है। दक्षिण अफ्रीका के बाद कई और देशों में इस वायरस के मरीज मिलने लगे हैं। कोरोना के इस नए वेरिएंट को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ओमीक्रोन नाम दिया है। जिसके बाद अब दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना के इस नए वेरिएंट को ओमीक्रोन नाम से जाना जाएगा। इस वेरिएंट को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी भी जारी की है।  डब्ल्यूएचओ की तरफ से कहा गया है कि नया वेरिएंट बेहद तेजी से फैलता है। डब्ल्यूएचओ ने इसे चिंताजनक करार दिया है। इसी कैटेगरी में कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट को भी रखा गया था। 

यूरोपीय देशों ने विमानों और यात्रियों के आने पर लगाया प्रतिबंध

अफ्रीका में कोरोना के मिले नए वेरिएंट ने कई देशों की चिताएं बढ़ा दी हैं। इससे निपटने के लिए दुनिया के कई देशों ने दक्षिण अफ़्रीका सहित अफ़्रीका के सात-आठ देशों से विमानों और यात्रियों के आने पर प्रतिबंध लगाना शुरू कर दिया है। जिन देशों से आने वाले विमानों पर ये प्रतिबंध लगे हैं, उनमें दक्षिण अफ़्रीका के अलावा बोत्सवाना, जिम्बॉब्वे, नामीबिया, लेसोथो, इस्वातिनी, मोज़ांबिक और मलावी शामिल हैं। 

ग्रुप ने दी 'वेरिएंट ऑफ कंसर्न' घोषित करने की सलाह 

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कोरोना पर एडवाइजरी ग्रुप की बैठक हुई थी जिसमें  कोरोना के नए वेरिएंट B.1.1.529 पर चर्चा हुई। इस दौरान ग्रुप ने वेरिएंट को 'वेरिएंट ऑफ कंसर्न' घोषित करने की सलाह दी। चिंता की बात ये है कि कोरोना के इस नए वेरिएंट में तेजी से म्यूटेशन भी हो रहा है। फिलहाल वैज्ञानिक ये पता लगाने की कोशिश में लगे हैं कि ये कितनी तेजी से लोगों में फैल रहा है। 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi's Newsroom। नारायण राणे के बयान से उद्धव सरकार की बढ़ी चिंता। MEA ने पाक से कही यह बात

कितना खतरनाक है वेरिएंट

वेरिएंट में 50 से ज्यादा म्यूटेशन मिल चुके हैं जिनमें 32 म्यूटेशन इसके स्पाइक प्रोटीन में ही हैं। वायरस शरीर की कोशिकाओं में प्रवेश करने के लिए स्पाइक पोटीन का ही सहारा लेता है। इसके अलावा, 10 मयूटेशन के रिसेप्टर को जोड़ने वाले डोमन में हुए  हैं।  

इसे भी पढ़ें: 26/11 मामले में पाकिस्तान हाई कमीशन को भारत का समन, कहा- दोषियों को जल्द दें सजा

ओमीक्रोन पर असरदार है वैक्सीन?

अमेरिका के  सीबीसी न्यूज़ के मुताबिक फाइजर ने एक बयान जारी कर कहा है कि वो फिलहाल मौजूदा वैक्सीन को ओमिक्रॉन के खिलाफ टेस्ट कर रहे हैं। कंपनी के मुताबिक अगर ये असरदार नहीं हुआ तो फिर मौजूदा वैक्सीन में कुछ फेरबदल कर नई वैक्सीन तैयार की जाएगी।

भारत में अभी एक भी केस नहीं 

भारत में भी केंद्र सरकार ने एयरपोर्ट पर सख्ती के निर्देश दिए हैं। दक्षिण अफ्रीका, हांगकांग और वोत्सवाना से आने वाले यात्रियों की अच्छी तरह से कोरोना जांच की जाएगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार भारत में अभी तक नए वेरिएंट का कोई केस नहीं मिला है। इस वेरिएंट के बारे में एक्सपर्ट ने बताया है कि ये 30 बार से ज्यादा रूप बदलकर बना है।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...