स्वेदशी कलाकारों के लिए हुनर हाट बना एक प्रमाणिक प्लेटफार्म : मुख्तार अब्बास नकवी

Naqvi
केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शुक्रवार को कहा कि हुनर हाट प्रधानमंत्री नरेंद्र मेादी के स्वदेशी स्वावलंबन और वोकल फॉर लोकल के आहवान को मजबूती देने के साथ ही स्वेदशी कलाकारों को रोजगार देने का एक प्रमाणिक प्लेटफार्म साबित हुआ है।

देहरादून। केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शुक्रवार को कहा कि हुनर हाट प्रधानमंत्री नरेंद्र मेादी के स्वदेशी स्वावलंबन और वोकल फॉर लोकल के आहवान को मजबूती देने के साथ ही स्वेदशी कलाकारों को रोजगार देने का एक प्रमाणिक प्लेटफार्म साबित हुआ है। यहां देश के 30 वें हुनर हाट को संबोधित करते हुए नकवी ने कहा कि स्वदेशी स्वालंबन और वोकल फॉर लोकल के अभियान को मजबूती देने के साथ ही हुनर हाट स्वदेशी दस्तकारों, और शिल्पकारों को रोजगार देने और उनके शानदार हस्तनिर्मित उत्पादों को बाजार मुहैया कराने का भी मंच बन गया है।

इसे भी पढ़ें: आस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस बोले- टी20 गेंदबाजी पर की है मेहनत , विश्व कप था मुख्य लक्ष्य

उन्होंने बताया कि देशभर में हुनर हाट मेलों का आयोजन किया जा रहा है और इसके माध्यम से अभी तक लगभग छह लाख शिल्पकारों एवं कारीगरों को रोजगार के अवसर मिले हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देहरादून में आयोजित हुनर हाट मेला 10 दिनों तक चलेगा जिसमें देश के अलग-अलग हिस्सों की हस्तशिल्प कलाओं को देखने का मौका मिलेगा। देश के 30 से ज्यादा राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के करीब 500 कलाकार और शिल्पकार लकडी, पीतल, शीशे, कपडे, कागज और मिट्टी के बने अपने स्वदेशी उत्पादों को लेकर यहां हुनर हाट में आए हैं।

इसे भी पढ़ें: NSA डोभाल ने दी देश-दुनिया के लिए बड़े खतरे की चेतावनी, भारत को नई रणनीति बनाने की जरूरत

आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं केन्द्रीय मंत्री ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों को भी सम्मानित किया। धामी ने कहा कि देश में कुशल कलाकारों और शिल्पकारों की कोई कमी नहीं है और वे अपनी कला और शिल्प के लिए एक बाजार ढूंढ रहे थे जो उन्हें हुनर हाट से मिल गया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़