भारतीय वायुसीमा से गुजर रहे ईरानी विमान में बम की सूचना, IAF के सुखोई फाइटर जेट्स को आसमान में निगरानी के लिए भेजा गया

IAF fighter
ANI
रेनू तिवारी । Oct 03, 2022 12:48PM
विवान के चालकों मे इजाजत मांगी की विमान तो दिल्ली में उतरने की इजाजत दी जाये लेकिन सुरक्षा एजेंसियों के इसके लिए इंकार कर दिया और चीन की ओर जाने के लिए कहा गया। इस खबर के बाद से ही भारतीय सुरक्षा जांच एजेंसियों ने हाई अलर्ट जारी कर दिया हैं।

खबरें मिली कि तेहरान से चीन के लिए यात्रा भरने वाले विवान में बम हैं। जब ये खबर सामने आयी तब यह विवान भारतीय वायु सीमा के अंदर था। विवान के चालकों मे इजाजत मांगी की विमान तो दिल्ली में उतरने की इजाजत दी जाये लेकिन सुरक्षा एजेंसियों के इसके लिए इंकार कर दिया और चीन की ओर जाने के लिए कहा गया। इस खबर के बाद से ही भारतीय सुरक्षा जांच एजेंसियों ने हाई अलर्ट जारी कर दिया हैं। जेट के पीछे भारतीय वायुसेना के दो विमानों को निकरानी के लिए लगा दिया गया। ताकि मौका देखकर यह विवान भारत के किसी ओर कोने में न लैंडिंग कर लेष माना जा रहा है तेहरान से चलने वाले विमान से चीन की सीमा में एंट्री कर ली हैं और भारतीय लड़ाकू विमान वापस लौट रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: Breaking | दिल्ली एयरपोर्ट पर हाई अलर्ट, तेहरान से चीन जा रहे विमान में बम की खबर, फ्लाइट को किया गया डायवर्ट

भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों को जोधपुर और पंजाब से एक ईरानी विमान की आपातकाल लैंडिग से रोकने और निगरानी के लिए भेजा गया था। विमान में एक बम होने की रिपोर्ट थी। बम की धमकी तब मिली जब चीन की ओर जा रहे विमान ने भारतीय हवाई क्षेत्र में प्रवेश किया। दिल्ली में सुरक्षा एजेंसियों को बोर्ड पर बम होने की संभावना के बारे में सूचना मिली थी, जिससे अलर्ट हो गया। एटीसी के एक सूत्र ने एएनआई को बताया कि एयरलाइन को बम की धमकी मिलने के बाद महान एयर ने दिल्ली एयरपोर्ट के एयर ट्रैफिक कंट्रोल से संपर्क किया। 

इसे भी पढ़ें: मल्लिकार्जुन खड़गे की बात से सहमत हूं कि हमें एक-दूसरे से नहीं, भाजपा से लड़ना है : थरूर

सूत्रों ने एएनआई को बताया कि पंजाब और जोधपुर एयरबेस से भारतीय वायु सेना के एसयू -30 एमकेआई लड़ाकू विमानों को विमान को रोकने के लिए हाथापाई की गई। दिल्ली में तत्काल उतरने की अनुमति से इनकार कर दिया गया था, और बम की धमकी के बाद जमीनी बलों को सक्रिय कर दिया गया था। दिल्ली एटीसी ने विमान को जयपुर जाने का सुझाव दिया लेकिन विमान के पायलट ने मना कर दिया और भारतीय हवाई क्षेत्र छोड़ दिया।

बम की धमकी की प्रकृति या ईरानी वाणिज्यिक वाहक का नाम अभी भी स्पष्ट नहीं है। हालांकि, मंजूरी के बाद, विमान अब चीन की ओर बढ़ रहा है और इस रिपोर्ट को दर्ज करने के समय, यह भारतीय हवाई क्षेत्र के ऊपर था और सुरक्षा एजेंसियों द्वारा इसकी कड़ी निगरानी की जा रही थी। विमान चीन की ओर अपने उड़ान पथ पर जारी है।

अन्य न्यूज़