'हमारे नेताओं के बारे में बोलते हैं तो सुनने की हिम्मत रखें प्रधानमंत्री', कांग्रेस का पलटवार

Jairam Ramesh
ANI
प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे की ‘रावण’ वाली टिप्पणी का उल्लेख करते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि प्रमुख विपक्षी दल के नेताओं के बीच उन्हें गाली देने की होड़ मची है। खरगे से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मधुसूदन मिस्त्री ने मोदी के खिलाफ ‘औकात’ बता देने संबंधी टिप्पणी की थी।
नयी दिल्ली। कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पलटवार करते हुए कहा कि जब वह उसके नेताओं एवं बुजुर्गों के बारे में बोलते हैं, तो सुनने की भी हिम्मत रखनी चाहिए। मुख्य विपक्षी दल ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी कांग्रेस संसदीय दल की प्रमुख सोनिया गांधी का कई बार अपमान कर चुके हैं और संसद के भीतर उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का भी मजाक बनाया है। प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे की ‘रावण’ वाली टिप्पणी का उल्लेख करते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि प्रमुख विपक्षी दल के नेताओं के बीच उन्हें गाली देने की होड़ मची है। खरगे से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मधुसूदन मिस्त्री ने मोदी के खिलाफ ‘औकात’ बता देने संबंधी टिप्पणी की थी। 

इसे भी पढ़ें: हर बार मोदी के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी से कांग्रेस को होता है नुकसान, फिर भी जबान क्यों नहीं संभालते नेता?

प्रधानमंत्री के ताजा हमले को लेकर उन पर पलटवार करते हुए कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट किया, ‘‘उसका क्या जब कई मौकों पर प्रधानमंत्री ने सोनिया गांधी जी का बहुत ही घिनौने शब्दों में अपमान किया तथा डॉक्टर मनमोहन सिंह का संसद के भीतर मजाक बनाया।’’ कांग्रेस के मीडिया एवं प्रचार प्रमुख पवन खेड़ा ने कहा, ‘‘हमारे नेताओं और बुजुर्गों के बारे में बोलते रहते हैं, तो सुनने की भी हिम्मत रखिए। ‘जर्सी गाय’, ‘कांग्रेस की विधवा’, ‘शूर्पणखा’ ‘बाथरूम में रेनकोट पहनकर नहाना’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल प्रधानमंत्री ने खुद किया है।’’ उल्लेखनीय है कि खरगे ने गुजरात में सोमवार को एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री सभी चुनावों में लोगों से “उनका चेहरा देखकर वोट करने” के लिए कहते हैं। खरगे ने पूछा था, ‘‘क्या आप रावण की तरह 100 सिर वाले हैं।’’ खरगे की टिप्पणी को भाजपा ने गुजरात के लोगों का अपमान करार दिया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़