गुना में युवक के शव के साथ की बेकद्री,शरीर से पानी निकालने के लिए शव को पेड़ से लटकाया उल्टा

Guna
सुयश भट्ट । Aug 24, 2021 4:00PM
गांववालों ने भंवरलाल के पैरों को बांधा और पेड़ से उल्टा लटका दिया। इसके बाद करीब 15 मिनट तक झुलाते रहे। मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने इसका वीडियो भी बना लिया। वीडियो में काफी संख्या में लोग मौजूद दिखाई दे रहे हैं।

भोपाल। मध्य प्रदेश के गुना जिले से एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आई है। दरअसल एक  युवक की जान बचाने की आस में 15 मिनट तक उसके शव के साथ बेकद्री की गई जिसके वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि युवक की मौत नदी में डूबने से हुई थी। जिसके बाद गांव वालों को उम्मीद थी, शायद उसकी जान बच जाए, इसलिए उसके पैरों को रस्सी से बांध दिया फिर उसे पेड़ से उल्टा लटका कर झुलाया गया। काफी देर तक ऐसा करने के बाद जब कोई हरकत नहीं हुई, तो हार मान ली।

इसे भी पढ़ें:सरदार सरोवर डैम बांध से रिस रहा है पानी , नर्मदा का जल स्तर खतरे में- मेधा पाटकर 

दरअसल घटना कुंभराज के जोगीपुरा गांव की है। कुंभराज के बांसाहेड़ा का रहने वाला भंवरलाल बंजारासोमवार दोपहर करीब 12 बजे जोगीपुरा गांव की नदी में नहाने गया था। और इसी दौरान वह डूबने लगा। लोगों ने उसे बचाने की कोशिश की लेकिन भंवरलाल डूब गया। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने गोताखोरों की मदद से शव को निकलवाया।

वहीं मौके पर सानई चौकी प्रभारी तोरन सिंह भी बल के साथ मौजूद थे। उन्होंने बताया कि घटनास्थल पर पहुंचे भंवरलाल के परिवार वालों को लगा, उसकी सांसें चल रही हैं। इतने में किसी ने समझाईश दी और उसे पेड़ से उल्टा लटका दिया जाए। उनका दावा था कि उल्टा लटकाने से पानी निकल जाएगा। चौकी प्रभारी तोरन सिंह ने बताया कि उन्होंने गांव वालों को समझाया भी था लेकिन वह नहीं माने।

इसे भी पढ़ें:बच्चों की लड़ाई घर के बड़ो के लिए बनी खूनी खेल, तलवार से सिर पर किया हमला 

आपको बता दें कि गांववालों ने भंवरलाल के पैरों को बांधा और पेड़ से उल्टा लटका दिया। इसके बाद करीब 15 मिनट तक झुलाते रहे। मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने इसका वीडियो भी बना लिया। वीडियो में काफी संख्या में लोग मौजूद दिखाई दे रहे हैं। जब शरीर में हरकत नहीं हुई, तो सभी को यकीन हो गया कि उसकी मौत हो गई है। जिसके बाद उसके शव को उतारा गया और पुलिस ने शव को पीएम के लिए भिजवाया।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़