खाली ऑक्सीजन टैंकरों को दोबारा भरने के लिए वापस लाएगी भारतीय वायुसेना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 23, 2021   17:50
खाली ऑक्सीजन टैंकरों को दोबारा भरने के लिए वापस लाएगी भारतीय वायुसेना

ऑक्सीजन ले कर आ रही ट्रेनों को महाराष्ट्र पहुंचने में वक्त लगेगा। लेकिन, समय बचाने के लक्ष्य से, खाली टैंकरों को वायुसेना के विमान से वापस भेजा जाएगा। यह फैसला आज की बैठक में लिया गया।

मुंबई। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने शुक्रवार को बताया कि ऑक्सीजन की आपूर्ति में लगने वाले समय को कम करने के लक्ष्य से अस्पतालों से, खाली हुए ‘प्राणवायु’ के टैंकरों को भारतीय वायुसेना के विमानों से संयंत्रों तक पहुंचाया जाएगा ताकि उन्हें फिर से भरा जा सके। उन्होंने बताया कि इस काम के लिए वायुसेना के विशेष विमानों का उपयोग किया जाएगा। देश में कोविड-19 के हालात को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गयी ऑनलाइन बैठक में भाग लेने के बाद टोपे ने उक्त बात कही। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ऑक्सीजन ले कर आ रही ट्रेनों को महाराष्ट्र पहुंचने में वक्त लगेगा। लेकिन, समय बचाने के लक्ष्य से, खाली टैंकरों को वायुसेना के विमान से वापस भेजा जाएगा। यह फैसला आज की बैठक में लिया गया।’’

तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन से भरे टैंकरों को लेकर विशेष ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ बृहस्पतिवार को ही विशाखापत्तनम से महाराष्ट्र के लिए रवाना हो गयी है। टोपे ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र में फिलहाल करीब सात लाख लोगों का कोविड-19 का इलाज चल रहा है। सामान्य तौर पर कुल मरीजों के 10 प्रतिशत मामले बिगड़ते हैं और गंभीर स्थिति में पहुंचते हैं। हमारी मांग है कि मरीजों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति उसी अनुपात में होनी चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी ऐसी ही मांगें रखीं। मंत्री ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी को लेकर वह आपूर्तिकर्ताओं के साथ और एक बैठक करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।