सरकार ने पूर्ण बजट पेश किया, स्थापित परंपराओं को किया भंग: चिदंबरम

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 1 2019 4:15PM
सरकार ने पूर्ण बजट पेश किया, स्थापित परंपराओं को किया भंग: चिदंबरम
Image Source: Google

लोकसभा में बजट पेश होने के बाद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि अंतरिम वित्त मंत्री (पीयूष गोयल) ने हाल के समय का सबसे लंबा अंतरिम बजट भाषण करके हमारे धैर्य की परीक्षा ली है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने शुक्रवार को संसद में अंतरिम बजट की बजाय पूर्ण बजट पेश किया जो स्थापित परंपराओं का उल्लंघन है। पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा, ‘अंतरिम वित्त मंत्री (पीयूष गोयल) ने हाल के समय का सबसे लंबा अंतरिम बजट भाषण करके हमारे धैर्य की परीक्षा ली है। यह अंतरिम बजट नहीं था। यह पूर्ण बजट था जिसे चुनावी भाषण के साथ पेश किया गया। ऐसा करके सरकार ने स्थापित परंपराओं को भंग किया है।’

इसे भी पढ़ें: मोदी सरकार के अंतरिम बजट को कांग्रेस ने ‘अकाउंट फॉर वोट’ करार दिया

उन्होंने कहा कि अगर सरकार को अपनी वापसी का विश्वास होता तो वह ऐसा नहीं करती। यह स्पष्ट है कि सरकार को अपनी वापसी का कोई भरोसा नहीं है। ऐसे में उसने घबराहट में आकर और संविधान का उल्लंघन करते हुए कदम उठाया। चिदंबरम ने कहा कि इस सरकार ने वित्तीय स्थिरिता को कमजोर करने का काम किया है। यह सरकार लगातार दूसरे वर्ष वित्तीय घाटे से जुड़े लक्ष्य को पूरा करने में विफल रही है।



इसे भी पढ़ें: राजनाथ ने अंतरिम बजट को बताया ऐतिहासिक, कहा- समाज के सभी वर्गों को लाभ मिलेगा



उन्होंने कहा कि छोटे और सीमांत किसानों के लिए प्रति वर्ष छह हजार रुपये देने की घोषणा से सरकार की घबराहट साबित होती है। वित्तीय घाटे का आंकड़ा सामने है। वित्तीय अनुशासन को भंग करते हुए सरकार को इस योजना के लिए 20 हजार करोड़ रुपये उधार लेना होगा। 



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video