जम्मू हवाई अड्डा नहीं होगा बंद, वायुसेना ने वापस लिया अपना आदेश

Jammu airport
जम्मू कश्मीर में 10 मार्च से 41 दिन तक जम्मू हवाईअड्डे पर विमानों की आवाजाही केवल सात घंटे ही होगी क्योंकि वायुसेना ने हवाईपट्टी पर मरम्मत के काम को लेकर अगले महीने 15 दिन तक हवाईअड्डा को पूर्ण रूप से बंद करने के अपने प्रस्तावित आदेश को वापस ले लिया है।

जम्मू। जम्मू कश्मीर में 10 मार्च से 41 दिन तक जम्मू हवाईअड्डे पर विमानों की आवाजाही केवल सात घंटे ही होगी क्योंकि वायुसेना ने हवाईपट्टी पर मरम्मत के काम को लेकर अगले महीने 15 दिन तक हवाईअड्डा को पूर्ण रूप से बंद करने के अपने प्रस्तावित आदेश को वापस ले लिया है। अधिकारियों ने शनिवार को इस बारे में बताया। अधिकारियों ने बताया कि वायुसेना ने केंद्रीय रक्षा मंत्रालय के निर्देश पर भारतीय हवाईअड्डा प्राधिकरण (एएआई) के साथ शुक्रवार को बैठक में फैसले की समीक्षा की और इसमें बदलाव किया।

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड: ऋषिगंगा के ऊपर बनी कृत्रिम झील का निरीक्षण करेगी अनुसंधानकर्ताओं की टीम

इससे एक दिन पहले रक्षा सचिव अजय कुमार ने दिल्ली में एएआई और वायुसेना की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता की और उन्हें आम नागरिकों के लिए विमानों के परिचालन को बंद करने से बचने का कोई रास्ता तलाशने का परामर्श दिया। जम्मू कश्मीर प्रशासन के अनुरोध पर नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने रक्षा सचिव के समक्ष यह मुद्दा उठाया था। अधिकारियों ने बताया कि छह मार्च से 20 मार्च तक जम्मू हवाईअड्डा को पूर्ण रूप से बंद करने का प्रस्ताव वापस ले लिया गया है।

इसे भी पढ़ें: किसान आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस निकालेगी पदयात्राएं, करेगी की सरकार का विरोध

हालांकि मरम्मत के काम को सुगमता से करने के लिए 10 मार्च से 19 अप्रैल तक विमानों का परिचालन सात घंटे ही होगा। अधिकारियों ने बताया कि 10 मार्च से 19 अप्रैल तक जम्मू हवाईअड्डे से सुबह छह बजे से दोपहर एक बजे तक ही विमानों का परिचालन होगा और आखिरी उड़ान दोपहर 12 बजकर 50 मिनट पर रवाना होगी। उन्होंने बताया कि 20 अप्रैल से जम्मू हवाईअड्डे से पूर्व की तरह विमानों का परिचालन सामान्य हो जाएगा।

जम्मू हवाईअड्डा के निदेशक प्रवट रंजन बेउरिया को भेजे पत्र में जम्मू वायुसेना अड्डे ने हवाईपट्टी पर मरम्मत के काम को लेकर इसे 15 दिन तक पूर्ण रूप से बंद करने की बात कही थी। वायुसेना के इस आदेश पर जम्मू कश्मीर प्रशासन और मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रमण्यम ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय के समक्ष कड़ा विरोध जताया था तथा रक्षा मंत्रालय से मामले में दखल देने का अनुरोध किया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़