जयंत पाटिल का बयान, किसानों की मांगें नजरअंदाज नहीं की जानी चाहिए

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 29, 2021   17:42
जयंत पाटिल का बयान, किसानों की मांगें नजरअंदाज नहीं की जानी चाहिए

महाराष्ट्र के मंत्री जयंत पाटिल ने शुक्रवार को कहा कि कोई भी 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा को सही नहीं ठहरा रहा है लेकिन किसानों की मांगों को भी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।

चंद्रपुर। महाराष्ट्र के मंत्री जयंत पाटिल ने शुक्रवार को कहा कि कोई भी 26 जनवरी को दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा को सही नहीं ठहरा रहा है लेकिन किसानों की मांगों को भी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रदेश अध्यक्ष पाटिल ने संवाददाताओं से बातचीत में केंद्र से किसानों की मांगों पर विचार करने की अपील की।

इसे भी पढ़ें: बीकेयू का समर्थन करने के लिए मुजफ्फरनगर में हजारों किसानों ने महापंचायत में शिरकत की

नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग के साथ किसान दिल्ली की सीमाओं पर पिछले करीब दो महीने से धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। राज्य के जल संसाधन मंत्री ने कहा, यह देखा जा सकता है कि किसानों के आंदोलन को समाप्त करने का प्रयास किया जा रहा है। कोई भी व्यक्ति 26 जनवरी को हुई हिंसा को सही नहीं ठहरा रहा हैं। लेकिन, किसानों की मांगों को भी नजरअदांज नहीं किया जाना चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।