JEE Main & NEET 2021: जेईई मेंस की लंबित परीक्षा अगस्त और नीट का सितंबर में हो सकता है आयोजन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 23, 2021   10:45
JEE Main & NEET 2021: जेईई मेंस की लंबित परीक्षा अगस्त और नीट का सितंबर में हो सकता है आयोजन

शिक्षा मंत्रालय जुलाई और अगस्त में इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन्स के लंबित संस्करणों का आयोजन करने पर विचार कर रहा है, जबकि मेडिकल पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) को सितंबर में स्थानांतरित किया जा सकता है।

नयी दिल्ली। शिक्षा मंत्रालय जुलाई और अगस्त में इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन्स के लंबित संस्करणों का आयोजन करने पर विचार कर रहा है, जबकि मेडिकल पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) को सितंबर में स्थानांतरित किया जा सकता है। सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। हालांकि, इस संबंध में अब तक अंतिम निर्णय किया जाना बाकी है और मंत्रालय सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड—19 की स्थिति की समीक्षा कर रहा है। एक सूत्र ने बताया, जी मेंस की लंबित परीक्षाएं जुलाई के आखिर में या अगस्त के शुरू में आयोजित की जा सकती हैं और इनमें एक पखवाड़े का अंतर होगा। नीट सितंबर में हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: भारत में एक दिन में कोविड-19 के 50,848 नए मामले, 1,358 लोगों ने तोड़ा दम

वर्तमान शैक्षणिक सत्र से, छात्रों को उनके स्कोर में सुधार करने का मौका देने के लिए जेईई मेन्स परीक्षा वर्ष में चार बार आयोजित की जा रही है। इस साल फरवरी में पहले चरण के बाद मार्च में दूसरे चरण की परीक्षा करायी गयी थी, जबकि अगला चरण अप्रैल और मई के लिए निर्धारित किया गया था। लेकिन देश भर में कोविड—19 के मामलों में अप्रत्याशित वृद्धि को देखते हुये इन परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया था।

इसे भी पढ़ें: हरे निशान पर खुला शेयर बाजार, सेंसेक्स पहली बार 52000 के हुआ पार

जेईई एडवांस परीक्षा भी स्थगित कर दी गयी थी जो तीन जुलाई को होनी थी। एडवांस परीक्षा देश के प्रतिष्ठित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों में नामांकन के लिये आयोजित की जाती है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।