RJD के साथ मिलकर बिहार की 12 सीटों पर चुनाव लड़ेगी JMM ! सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा- मांग का होगा सम्मान

hemant soren
झामुमो के महासचिव एवं प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने बताया कि झामुमो राजद और उसके सहयोगियों से बिहार विधानसभा चुनावों में 12 सीटें मांगेगा और उसे उम्मीद है कि गठबंधन उनकी मांग का सम्मान करेगा

रांची। झारखंड में सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) ने आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के साथ मिलकर 12 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की। झामुमो के महासचिव एवं प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने सोमवार को यहां आयोजित संवाददाता सम्मेलन में घोषणा की कि झारखंड मुक्ति मोर्चा आगामी बिहार विधानसभा चुनावों में 12 सीटों पर अपने उम्मीवार उतारेगी और यह चुनाव उनकी पार्टी राजद गठबंधन के साथ मिलकर लड़ेगी। एक सवाल के जवाब में भट्टाचार्य ने बताया कि झामुमो राजद और उसके सहयोगियों से बिहार विधानसभा चुनावों में 12 सीटें मांगेगा और उसे उम्मीद है कि गठबंधन उनकी मांग का सम्मान करेगा, क्योंकि पिछले वर्ष झारखंड में हुए विधानसभा चुनाव में झामुमो ने गठबंधन के तहत राजद को सात सीटें दी थी और इतना ही नहीं सात में सिर्फ एक सीट जीतने वाले राजद को मंत्रिमंडल में भी जगह दी गयी। 

इसे भी पढ़ें: लालू प्रसाद के हस्तक्षेप के बाद रामा सिंह का RJD में शामिल होना रुका, रघुवंश प्रसाद को हराकर बने थे सांसद 

उन्होंने बताया कि राजद गठबंधन के साथ झामुमो की पहले से ही बातचीत चल रही है और इस सिलसिले को जल्दी ही और आगे बढ़ाया जायेगा। अपनी पसंद की विधानसभा सीटों का विवरण देते हुए भट्टाचार्य ने बताया कि झामुमो बिहार की तारापुर, कटोरिया, मनिहारी, बांका, ठाकुरगंज, रुपोली, प्राणपुर, बनमक्खी, जमालपुर, पीरपैंती, चकाई और झाझा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने यह भी कहा कि झामुमो ने चुनाव आयोग से अपना तीर-धनुष का चुनाव चिह्न बिहार चुनाव के लिए मुक्त करने की मांग की है और उसे विश्वास है कि उसका चुनाव चिह्न बिहार विधानसभा चुनाव से पहले मुक्त कर दिया जायेगा। ज्ञातव्य है कि बिहार की सत्ताधारी पार्टी जदयू की शिकायत पर चुनाव आयोग ने झामुमो का चुनाव चिह्न बिहार के लिए सीज कर दिया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़