कर्नाटक ने कोरोना के टीके की आपूर्ति के वास्ते कमर कसी: स्वास्थ्य मंत्री सुधाकर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 24, 2020   15:59
कर्नाटक ने कोरोना के टीके की आपूर्ति के वास्ते कमर कसी: स्वास्थ्य मंत्री सुधाकर

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सभी सरकारी अस्पतालों के लिए स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों का आंकड़ा पहले ही तैयार कर लिया गया है। उनके अनुसार करीब 80 फीसद निजी अस्पतालों ने भी अपने ऐसे आंकड़े दे दिये हैं और बाकी 20 फीसद द्वारा एक सप्ताह के अंतर आंकड़े तैयार किये जाने की संभावना है।

बेंगलुरु। कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. टी सुधाकर ने मंगलवार को कहा कि जैसा कि केंद्र ने सलाह दे रखी है, जब भी कोविड-19 का टीका आएगा, राज्य सरकार ने उसकी आपूर्ति, वितरण और टीकाकरण के लिए कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से संबंधित राज्य कार्यबल ने हाल ही एक बैठक की और टीका के भंडारण एवं आपूर्ति संबंधी तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम के नियमों के अनुसार सरकार ने 29,451 टीकाकरण स्थलों और 10008 टीका लगाने वालों की पहचान की है।’’ 

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में कोविड-19 पर गठित समिति ने दिसंबर में स्कूलों को नहीं खोलने की सिफारिश की

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सभी सरकारी अस्पतालों के लिए स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों का आंकड़ा पहले ही तैयार कर लिया गया है। उनके अनुसार करीब 80 फीसद निजी अस्पतालों ने भी अपने ऐसे आंकड़े दे दिये हैं और बाकी 20 फीसद द्वारा एक सप्ताह के अंतर आंकड़े तैयार किये जाने की संभावना है। उन्होंने कहा कि राज्य में इस टीके के भंडारण एवं वितरण के लिए 2855 वितरण श्रृंखला केंद्र हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ बेहतर आपूर्ति श्रृंखला नेटवर्क और समयबद्ध तरीके से टीके के वितरण के लिए बेंगलुरु शहरी, शिवमोगा और बेल्लारी में नये क्षेत्रीय टीका भंडार बनाने का प्रस्ताव है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...