भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों के लिए राजस्थान जाएंगे केसी वेणुगोपाल, गहलोत-पायलट विवाद पर कही यह बात

KC Venugopal
ANI
अंकित सिंह । Nov 25, 2022 4:37PM
केसी वेणुगोपाल ने आगे कहा कि राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कांग्रेस की एकजुटता साफ तौर पर दिखाई देगी। भले ही किसी बहनों को पाल यह दावा कर रहे हैं कि अशोक गहलोत और सचिन पायलट में सब कुछ ठीक है।

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा अगले महीने राजस्थान पहुंचने वाली है। फिलहाल कांग्रेस के भारत जोड़ो यात्रा मध्य प्रदेश में है। राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा का नेतृत्व कर रहे हैं। इन सबके बीच खबर यह है कि कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल 29 नवंबर को जयपुर जाएंगे। केसी वेणुगोपाल का यह दौरा भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों की समीक्षा के लिए हो रहा है। हालांकि, राजनीतिक विश्लेषक इसको अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच विवाद से जोड़कर देख रहे हैं। केसी वेणुगोपाल से इसको लेकर सवाल भी पूछा गया। उन्होंने कहा कि राजस्थान में कोई भी विवाद नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: Kaun Banega Gujaratna Sardar: दिलचस्प होती जा रही है चुनावी लड़ाई, Congress को खल रही Ahmed patel की कमी

केसी वेणुगोपाल ने आगे कहा कि राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कांग्रेस की एकजुटता साफ तौर पर दिखाई देगी। भले ही किसी बहनों को पाल यह दावा कर रहे हैं कि अशोक गहलोत और सचिन पायलट में सब कुछ ठीक है। लेकिन जिस तरीके से कल दोनों के बीच जुबानी जंग देखने को मिली उसके बाद से एक बार फिर से राजस्थान में कांग्रेस के भीतर की अंतर्कलह सामने आ चुकी है। अशोक गहलोत ने सचिन पायलट को लेकर कहा कि वह गद्दार है और कभी भी मुख्यमंत्री नहीं बन सकते। दूसरी ओर सचिन पायलट ने साफ तौर पर कहा कि कीचड़ उछालने से कुछ नहीं होता है। हमें कांग्रेस पार्टी को मिलकर एकजुट करना होगा। 

इसे भी पढ़ें: Delhi MCD Election: बीजेपी ने जारी किा 12 सूत्रीय संकल्प पत्र, 5 रुपये में भोजन की सुविधा, युवाओं को मिलेंगे एक लाख स्वरोजगार के अवसर

गहलोत ने कहा था कि विधायक कभी उसे स्वीकार नहीं करेंगे जिसने बगावत की हो और जिसे गद्दार कहा गया हो। वह मुख्यमंत्री कैसे बन सकता है? विधायक ऐसे आदमी को मुख्यमंत्री कैसे स्वीकार करेंगे। सचिन पायलट ने अशोक गहलोत के ‘गद्दार’ वाले बयान पर कहा कि इतने अनुभव वाले किसी व्यक्ति को ऐसी का इस्तेमाल करना शोभा नहीं देता, मैंने कभी ऐसा नहीं किया। वहीं, इस विवाद पर जयराम रमेश ने कहा था कि गहलोत, कांग्रेस के वरिष्ठ और अनुभवी नेता हैं। लेकिन उनके द्वारा एक साक्षात्कार में (पायलट के लिए) जिस शब्द (गद्दार) का इस्तेमाल किया गया, वह अप्रत्याशित था और इससे मुझे भी आश्चर्य हुआ।’’ रमेश ने कांग्रेस को एक परिवार बताया और कहा, ‘‘पार्टी को गहलोत और पायलट, दोनों की जरूरत है। कुछ मतभेद हैं जिनसे हम भाग नहीं रहे हैं।

अन्य न्यूज़