दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए केजरीवाल करेंगे भूख हड़ताल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 24, 2019   18:15
दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए केजरीवाल करेंगे भूख हड़ताल

उन्होंने कहा, ‘‘अगस्त 2003 में आडवाणी जी गृह मंत्री के रूप में लोकसभा में दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य के दर्जा के लिए एक विधेयक लाये थे।

नयी दिल्ली। दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिये जाने की मांग को लेकर एक मार्च से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठने के अपने निर्णय की घोषणा के एक दिन बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि यह उनके सामने अंतिम विकल्प है। भाजपा ने केजरीवाल के इस कदम को ‘‘चुनावों से पहले का ड्रामा’’ बताया और आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के पास लोकसभा चुनाव में वोट मांगने के लिए अपनी उपलब्धियों के रूप में लोगों को दिखाने के लिए कुछ भी नहीं है। कई ट्वीट करके केजरीवाल ने आरोप लगाया कि केन्द्र की भाजपा सरकार पिछले चार वर्षों से आप सरकार की शक्तियों को ‘‘छीन’’ रही है। 

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘पिछले चार साल में मोदी सरकार आदेश पारित करके दिल्ली सरकार की शक्तियां छीनती गयी। सीसीटीवी, स्कूल, अस्पताल, मोहल्ला क्लीनिक, आदि - दिल्ली वालों के हर काम में अड़चनें लगाईं। हमने सब किया - इनके सामने गिड़गिड़ाए, धरना दिया, कोर्ट गए। जब कोई रास्ता नहीं बचा तो उपवास कर रहे हैं।’’ एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘‘हां, दिल्ली भारत की राष्ट्रीय राजधानी है। इसलिए केंद्र पूरे एनडीएमसी क्षेत्र को अपने पूर्ण नियंत्रण में रखे। दिल्ली के बाकी लोग, जिसमें दिल्लीवासी अपने स्वयं की सरकार का चुनाव करते हैं, को केंद्र के अधीन कैसे रखा जा सकता है? किसी भी तरह का अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।’’ 

यह भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर के राज्यपाल ने बड़े पैमाने पर फैलाई जा रही अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की

उन्होंने कहा, ‘‘अगस्त 2003 में आडवाणी जी गृह मंत्री के रूप में लोकसभा में दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य के दर्जा के लिए एक विधेयक लाये थे। प्रणब दा के नेतृत्व वाली एक संसदीय समिति ने दिसंबर 2003 में इसका समर्थन किया था। लेकिन अंतत: इस पर बात नहीं बन सकी। क्या उनका इरादा सिर्फ दिल्ली के लोगों की भावनाओं से खेलने का था? दिल्लीवालों के साथ यह अन्याय क्यों हुआ?’’ आप के राष्ट्रीय संयोजक ने भाजपा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर इस मुद्दे पर ‘‘झूठ’’ बोलने का आरोप लगाया और दावा किया कि दिल्ली के लोग पूर्ण राज्य का ‘‘विरोध’’ करने वाले लोगों को दंडित करेंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...