केजरीवाल ने उद्योगपतियों को लिखा पत्र, दिल्ली को ऑक्सीजन मुहैया कराने का किया अनुरोध

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2021   23:17
केजरीवाल ने उद्योगपतियों को लिखा पत्र, दिल्ली को ऑक्सीजन मुहैया कराने का किया अनुरोध

उद्योगपतियों को लिखे पत्र में केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में भारी वृद्धि के बीच राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन की कमी का सामना करना पड़ रहा है। मुख्यमंत्री ने उनके अनुरोध को जीवन रक्षा संदेश (एसओएस) के तौर पर लेने को कहा।

नयी दिल्ली।  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जीवन रक्षक गैस की किल्लत के बीच रविवार को देश के प्रमुख उद्योगपतियों से दिल्ली के लिए ऑक्सीजन एवं क्रायोजेनिक टैंकर उपलब्ध कराकर सहायता करने का अनुरोध किया है जो गंभीर रूप से बीमार कोविड-19 मरीजों के लिए आवश्यक है। उद्योगपतियों को लिखे पत्र में केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में भारी वृद्धि के बीच राष्ट्रीय राजधानी में ऑक्सीजन की कमी का सामना करना पड़ रहा है। मुख्यमंत्री ने उनके अनुरोध को जीवन रक्षा संदेश (एसओएस) के तौर पर लेने को कहा। 

इसे भी पढ़ें: पूरी दिल्ली में फैबीफ्लू और ऑक्सीजन सिलेंडर बांटेगी गौतम गंभीर की फाउंडेशन

केजरीवाल ने पत्र में कहा, दिल्ली में ऑक्सीजन का उत्पादन नहीं होता और आप इस बात से अवगत हैं कि दिल्ली को इस समय मेडिकल ऑक्सीजन की कमी का सामना करना पड़ रहा है। अगर आप दिल्ली सरकार को ऑक्सीजन के साथ हीक्रायोजेनिक टैंकर मुहैया करवा सकें तो मैं आपका आभारी रहूंगा। उन्होंने कहा कि रेलवे रायगढ़ से ऑक्सीजन के चार टैंकर राष्ट्रीय राजधानी लेकर आ रहा है और रेलवे ने दिल्ली सरकार से इसके लिए टैंकरों का प्रबंध करने को कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा, हालांकि, हमें केंद्र सरकार से सहायता मिली है लेकिन कोरोना की दूसरी लहर के प्रकोप के चलते यह आपूर्ति अपर्याप्त साबित हो रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...