केरल विधानसभा ने लक्षद्वीप के प्रति एकजुटता वाला प्रस्ताव किया पारित, केंद्र से तत्काल कार्रवाई की मांग की

केरल विधानसभा ने लक्षद्वीप के प्रति एकजुटता वाला प्रस्ताव किया पारित, केंद्र से तत्काल कार्रवाई की मांग की
प्रतिरूप फोटो

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन का बयान सामने आया। जिसमें उन्होंने कहा कि केंद्र से लक्षद्वीप के लोगों के जीवन और आजीविका की रक्षा के लिए तत्काल कार्रवाई की मांग की।

तिरुवनंतपुरम। केरल विधानसभा ने लक्षद्वीप के लोगों के प्रति एकजुटता प्रदर्शित करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया है। इस प्रस्ताव में केंद्रशासित प्रदेश लक्षद्वीप के प्रशासक प्रफुल्ल खोड़ा पटेल को वापस बुलाने और केंद्र से हस्तक्षेप की मांग की गई है। केरल विधानसभा ने यह प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया है। इस प्रस्ताव मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने पेश किया था। 

इसे भी पढ़ें: लक्षद्वीप विवाद में राहुल गांधी ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, कहा- आदेशों को लिया जाए वापस 

इससे पहले केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन का बयान सामने आया। जिसमें उन्होंने कहा कि केंद्र से लक्षद्वीप के लोगों के जीवन और आजीविका की रक्षा के लिए तत्काल कार्रवाई की मांग की। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक मुख्यमंत्री विजयन ने कहा कि लोगों के हितों को चुनौती देने वाले प्रशासक को हटाया जाना चाहिए और केंद्र को लक्षद्वीप के लोगों के जीवन और आजीविका की रक्षा के लिए तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी ने लक्षद्वीप में नए नियमन के मसौदे को लेकर सरकार पर निशाना साधा 

उल्लेखनीय है कि केरल की सत्तारूढ़ पार्टी और विपक्ष ने नेताओं ने प्रफुल्ल खोड़ा पटेल द्वारा उठाए गए कदमों की आलोचना की थी। हालांकि भाजपा की प्रदेश इकाई ने आलोचना का जवाब दिया था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।