• खड़गे का सवाल, कोरोना से कितने लोग मरे क्या ये रहस्य ही बना रहेगा?

अंकित सिंह Jul 20, 2021 14:13

खड़गे ने आगे कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने 15 मई 2021 को कहा कि जो लोग चले गए वो मुक्त हो गए। सरकार का समर्थन करने वाले संघ की क्या नीति और मंशा है, ये इससे पता चलता है।

देश में कोरोना वायरस की रफ्तार फिलहाल कम है। इन सबके बीच कोरोना कुप्रबंधन को लेकर विपक्ष लगातार संसद में सरकार के घेर रहा है। इसी कड़ी में आज राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मलिकार्जुन खड़गे ने सरकार से पूछा कि कोरोना के कारण कितने लोग मरे हैं क्या यह रहस्य ही बना रहेगा? मलिकार्जुन खड़गे ने कहा कि इतने बड़े देश में कोरोना से कितने लोग मरे क्या ये रहस्य ही बना रहेगा? सरकार देश में कोरोना से 4 लाख से अधिक मौतों की बात बताती है। जो झूठे आंकड़े सरकार जारी कर रही है वो सत्य से दूर हैं।

खड़गे ने आगे कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने 15 मई 2021 को कहा कि जो लोग चले गए वो मुक्त हो गए। सरकार का समर्थन करने वाले संघ की क्या नीति और मंशा है, ये इससे पता चलता है। सरकार ने लोगों से मास्क पहनने और सामाजिक दूरी बनाए रखने को कहा। लेकिन अलग-अलग राज्यों में चुनाव के दौरान वे क्या कर रहे थे? आप अपने ही नियम तोड़ रहे हैं। नोटबंदी की तरह रातों-रात लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया। सरकार ने इसकी तैयारी नहीं की। लोगों के घर वापस जाने के लिए कोई ट्रेन नहीं थी। लोगों की आजीविका प्रभावित हुई। सरकार को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: संसद में खूब सवाल करे विपक्ष लेकिन सरकार को जवाब देने का मौका भी दे

इससे पहले, सदन की कार्यवाही आरंभ होने के कुछ ही देर बाद दोपहर बारह बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई थी। जैसे ही सदन की कार्यवाही 12 बजे आरंभ हुई कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दलों ने हंगामा प्रारंभ कर दिया। हंगामा कर रहे सदस्यों ने जब नारेबाजी आरंभ की तो उपसभापति हरिवंश ने उन्हें वापस लौटने का आग्रह किया लेकिन उनकी एक ना सुनी गई। हरिवंश ने कहा, ‘‘आप सदन नहीं चलाना चाहते हैं...आसन के समीप आ गए हैं आप लोग...आप नहीं चाहते कि प्रश्नकाल हो...कृपया अपन-अपनी सीट पर लौट जाएं।’’