बहुत तेजी से विकसित होगा खरखौदा औद्योगिक क्षेत्र - डिप्टी सीएम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 23, 2022   11:38
बहुत तेजी से विकसित होगा खरखौदा औद्योगिक क्षेत्र - डिप्टी सीएम

मुलाकात के दौरान उपमुख्यमंत्री ने एसोसिएशन को आश्वस्त करते हुए कहा कि आईएमटी खरखौदा को तेजी से विकसित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव सुविधएं मुहैया करवाएगी ताकि उद्योगों का बढ़ावा मिले। उपमुख्यमंत्री के कहा कि हरियाणा सरकार के प्रयासों से यहां आईएमटी में करीब 900 एकड़ जमीन पर देश की सबसे बड़ी मोटर वाहन कंपनी मारुति अपना कारखाना लगाने जा रही है

चंडीगढ़  हरियाणा सरकार द्वारा खरखौदा औद्योगिक क्षेत्र को बहुत तेजी से विकसित किया जाएगा और क्षेत्र को अपनी अलग पहचान दिलाई जाएगी। इसके लिए राज्य सरकार निरंतर प्रयासरत है। यहां मारुति जैसी बड़ी कम्पनियों के निवेश करने से जहां औद्योगिक माहौल को सकारात्मक बल मिला है और इससे स्थानीय  युवाओं को रोजगार मिलेगा, वहीं  अन्य बड़ी कम्पनियों के निवेश करने के अवसर भी बढ़ेंगे।

 

यह बात प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कही। वे  चंडीगढ़ में आईएमटी खरखौदा इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रधान राजीव दहिया के नेतृत्व में आए एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात कर रहे थे। इस दौरान एसोसिएशन ने खरखौदा में मारुति कारखाने व 75 प्रतिशत लोकल रोजगार कानून के लिए डिप्टी सीएम का आभार व्यक्त किया तथा आईएमटी खरखौदा के विकास से सम्बंधित अपनी कई मांगें उनके समक्ष रखी।

 

मुलाकात के दौरान उपमुख्यमंत्री ने एसोसिएशन को आश्वस्त करते हुए कहा कि आईएमटी खरखौदा को तेजी से विकसित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव सुविधएं मुहैया करवाएगी ताकि उद्योगों का बढ़ावा मिले।

उपमुख्यमंत्री के कहा कि हरियाणा सरकार के प्रयासों से यहां आईएमटी में करीब 900 एकड़ जमीन पर देश की सबसे बड़ी मोटर वाहन कंपनी मारुति अपना कारखाना लगाने जा रही है। उन्होंने कहा कि मारुति के साथ-साथ अनेक और भी बड़ी कंपनियां यहां आने में अपनी दिलचस्पी दिखा रही है।  उपमुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में यह क्षेत्र औद्योगिक हब बनकर उभरेगा और इससे स्थनीय युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।