जानिए क्यों 38 में से 20 DTC बस डिपो नहीं रोक पाये मच्छरों का प्रजनन, SDMC ने भेजा नोटिस

sdmc detected mosquito breeding
प्रतिरूप फोटो
एसडीएमसी ने मानसून के दौरान मच्छरों का प्रजनन रोकने में कथित रूप से विफल रहने को लेकर 20 डीटीसी बस डिपो को कानूनी नोटिस जारी किया है। नगर निकाय ने कहा, 38 में से 23 में मच्छरों का प्रजनन पाया गया। मच्छरों के प्रजनन का कारण बेकार पड़ी वस्तुओं, टायर, गुलदस्तों, खाली कूलर आदि में बारिश का पानी होना था।

नयी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) ने मानसून के दौरान मच्छरों का प्रजनन रोकने में कथित रूप से विफल रहने को लेकर 20 डीटीसी बस डिपो को कानूनी नोटिस जारी किया है। नगर निकाय ने मंगलवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि एसडीएमसी के अधिकार क्षेत्र में स्थित दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) बस डिपो में मच्छरों के प्रजनन और नियंत्रण उपायों की जांच के लिए एसडीएमसी के जन स्वास्थ्य विभाग के द्वारा चलाए विशेष अभियान के दौरान कार्रवाई की गई। नगर निकाय ने एक बयान में कहा, विभाग ने अभियान के दौरान, एसडीएमसी के अधिकार क्षेत्र में आने वाले 38 बस डिपो में से 23 में मच्छरों का प्रजनन पाया।

इसे भी पढ़ें: गुरुग्राम में अवैध संबंध के शक में व्यक्ति ने बहू समेत 4 लोगों को उतारा मौत के घाट

मच्छरों के प्रजनन का कारण बेकार पड़ी वस्तुओं, टायर, गुलदस्तों, खाली कूलर आदि में बारिश का पानी जमा होना था। बयान में कहा गया है, मच्छरों के प्रजनन की पुष्टि होने के बाद विभाग ने 20 डिपों को कानूनी नोटिस भेजा है और एक चालान जारी करके (डिपो की) देखभाल करने वालों / प्रबंधकोंके खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू की है। जिन डिपो में मच्छरों का प्रजनन पाया गया है उनमें द्वारका का सेक्टर-2, सेक्टर-22, सेक्टर-सी में डीटीसी क्लस्टर बस डिपो; सुखदेव विहार, खानपुर, वसंत विहार, दिचौ कलां आदि डिपो शामिल हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़