ट्विटर पर लालू यादव और सुशील कुमार मोदी के बीच जुबानी जंग

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Nov 22 2018 11:06AM
ट्विटर पर लालू यादव और सुशील कुमार मोदी के बीच जुबानी जंग
Image Source: Google

चारा घोटाला मामलों में सजा काट रहे राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव और बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी के बीच बुधवार को ट्विटर पर जुबानी जंग छिड़ गयी।

पटना। चारा घोटाला मामलों में सजा काट रहे राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव और बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी के बीच बुधवार को ट्विटर पर जुबानी जंग छिड़ गयी। इस टकराव की शुरूआत यादव के आधिकारिक ट्विटर हैंडल की एक पोस्ट से हुई जिसे उनके करीबी साथी चलाते हैं। राजद प्रमुख ने इस पर एक हिन्दी समाचार पोर्टल के एक लेख को साझा किया जिसका शीर्षक ‘‘भाजपा लालू से इतना क्यों डरती है’’ था। लेख को इस टिप्पणी के साथ साझा किया गया, ‘‘क्योंकि मैं इनके दुष्प्रचार,लालच, प्रतिशोध, प्रताड़ना और किसी प्रकार की ब्लैकमेलिंग से नहीं डरता। क्योंकि इनकी जातिवादी, नफ़रतवादी, संविधान व इंसान विरोधी ज़हरीली राजनीति का सबसे मुखर विरोधी हूँ। सिद्धांतों से समझौता नहीं कर सकता चाहे क्यों ना फाँसी हो जाए।’’ 
भाजपा को जिताए
 
इन टिप्पणियों से नाराज सुशील मोदी ने जवाब दिया, ‘‘लालू प्रसाद 30 साल से संघ- भाजपा के खिलाफ दुष्प्रचार कर रहे हैं। वे अल्पसंख्यकों को डरा कर वोट लेते रहे। सम्पत्ति का लालच इतना कूट-कूट कर भरा है कि चारा घोटाला से लेकर होटल घोटाला तक कर डाला। प्रतिशोध लेने के लिए उनके राज में सैंकड़ों लोग मारे गए और ब्लैकमेलिंग के बल पर बिहार में अपहरण उद्योग पनपा। वे किस सिद्धांत की बात कर रहे हैं।’’ खास बात यह है कि लालू और सुशील ने 1970 के दशक में ‘‘जेपी आंदोलन’’ में साथ-साथ भाग लिया था। उस समय उपमुख्मंत्री पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ के महासचिव और लालू इसके अध्यक्ष थे।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video