वामपंथी पार्टियों ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ किया प्रदर्शन

Left parties protest against rising fuel prices
पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती की मांग करते हुए छह वामपंथी पार्टियों ने आज यहां संसद मार्ग पर प्रदर्शन किया। माकपा, भाकपा, फॉरवर्ड ब्लॉक, आरएसपी, भाकपा-माले और एसयूसीआई के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन में हिस्सा लिया

नयी दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती की मांग करते हुए छह वामपंथी पार्टियों ने आज यहां संसद मार्ग पर प्रदर्शन किया। माकपा, भाकपा, फॉरवर्ड ब्लॉक, आरएसपी, भाकपा-माले और एसयूसीआई के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन में हिस्सा लिया और भाजपा की अगुवाई वाली सरकार एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारेबाजी की। पेट्रोल एवं डीजल की खुदरा कीमतों में अत्यधिक बढ़ोतरी की निंदा करते हुए वामपंथी पार्टियों ने कहा कि इससे आम आदमी की कमर टूट जाएगी और जरूरी वस्तुओं की कीमतों पर इसका प्रभाव देखने को मिलेगा।

सभा को संबोधित करते हुए माकपा नेता वृंदा करात ने कहा, ‘नरेंद्र मोदी सरकार आम लोगों के लिए कुछ नहीं कर रही। वे नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे लोगों को पैसे चुराकर भागने दे रहे हैं जबकि आम लोगों पर जरूरी वस्तुओं की बढ़ती कीमतों का बोझ बढ़ता जा रहा है। हमने लोगों का आह्वान किया है कि वे इस समस्या से जमकर लड़ें।’ पार्टियों ने कहा कि ईंधन की कीमतों में ‘असामान्य बढ़ोतरी’ से भारत में पेट्रोलियम उत्पादों की खुदरा कीमतें दक्षिण एशिया में सबसे ज्यादा हो गई हैं और यह उत्पाद शुल्कों के जरिए केंद्र सरकार द्वारा ज्यादा से ज्यादा राजस्व वसूलने की कोशिश के कारण हुआ है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़