जम्मू-कश्मीर में कोरोना से उत्पन्न हालात में धीरे-धीरे सुधार हो रहा: उपराज्यपाल

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 23, 2021   19:33
जम्मू-कश्मीर में कोरोना से उत्पन्न हालात में धीरे-धीरे सुधार हो रहा: उपराज्यपाल

उप राज्यपाल ने केंद्र शासित प्रदेश के लोगों के स्वस्थ एवं प्रसन्न जीवन के लिए प्रार्थना की और लोगों से आह्वान किया कि वे कोविड-19 प्रोटोकॉल का उसकी भावना के तहत अनुपालन करें और अपना टीकाकरण कराएं।

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल ने रविवार को कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में कोविड-19 से उत्पन्न हालात में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। उन्होंने यहां कोविड-19 महामारी से लड़ने के लिए उनके प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयासों में सभी हितधारकों से सक्रिय भागीदारी की भी अपील की। हालांकि, मनोज सिन्हा ने कहा कि आपात स्थित से निपटने के लिए व्यवस्था को मजबूत करने की योजना बनाई गई है और उसे लागू किया जा रहा ताकि उन लोगों को चिकित्सा एवं इलाज की सुविधा मुहैया कराई जा सके जिन्हें इनकी जरूरत है। सिन्हा ने कहा, ‘‘हालात धीरे-धीरे सुधर रहे हैं। हम पूरे केंद्र शासित प्रदेश में टीकाकरण अभियान का विस्तार कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: हरियाणा सरकार ने कोविड-19 लॉकडाउन 31 मई तक के लिए बढ़ाया

जम्मू-कश्मीर में अब तक लक्षित आबादी के 63 प्रतिशत हिस्से का टीकाकरण हो चुका है जो देश के कई राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहीं अधिक है व टीकाकरण के मामले में क्षेत्र में सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाले प्रदेशों में जम्मू-कश्मीर है।’’ वीडियो संदेश के जरिये लोगों को संबोधित करते हुए सिन्हा ने कहा कि जांच और टीकाकरण इस महामारी से लड़ने के दो मंत्र हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं आप सभी से जांच और टीकाकरण अभियान में सक्रिय हिस्सेदारी करने का अनुरोध करता हूं ताकि इस प्राणघातक वायरस के प्रसार को प्रभावी तरीके से नियंत्रित किया जा सके।’’ उप राज्यपाल ने केंद्र शासित प्रदेश के लोगों के स्वस्थ एवं प्रसन्न जीवन के लिए प्रार्थना की और लोगों से आह्वान किया कि वे कोविड-19 प्रोटोकॉल का उसकी भावना के तहत अनुपालन करें और अपना टीकाकरण कराएं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।