पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन का सख्ती से पालन, कुछ जिलों में उल्लंघन के मामले आए सामने

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 27, 2020   15:57
पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन का सख्ती से पालन, कुछ जिलों में उल्लंघन के मामले आए सामने

कोलकाता अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उड़ानों का संचालन बंद रहा जबकि लंबी दूरी की ट्रेनों के समय में भी बदलाव किया गया। इसके अलावा नौका सेवाएं भी बंद रहीं।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिये लागू पूर्ण लॉकडाउन के दौरान बृहस्पतिवार को कोलकाता में आम जनजीवन प्रभावित रहा। वहीं राज्य के कुछ जिलों में लॉकडाउन पाबंदियों के उल्लंघन के मामले भी सामने आए। लॉकडाउन के चलते आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी निजी सार्वजनिक परिवहन, सरकारी और निजी कार्यालय, बैंक तथा अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद रहे। कोलकाता अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उड़ानों का संचालन बंद रहा जबकि लंबी दूरी की ट्रेनों के समय में भी बदलाव किया गया। इसके अलावा नौका सेवाएं भी बंद रहीं। लॉकडाउन के दायरे से बाहर रखी गईं जरूरी सेवाएं जैसे दवा की दुकानें और स्वास्थ्य केन्द्र खुले रहे। पेट्रोल पंपों को भी लॉकडाउन में खोले रखने की अनुमति है। 

इसे भी पढ़ें: ममता बनर्जी का मुख्यमंत्रियों को सुझाव, NEET-JEE के खिलाफ SC में संयुक्त रूप से अपील करने को कहा 

राज्य में मार्च में राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन का पहला चरण लागू होने के बाद से स्कूल, कॉलेज और अन्य शिक्षण संस्थान बंद हैं। पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिये द्वि-साप्ताहिक पूर्ण लॉकडाउन लागू करने का फैसला लिया है, जिसके तहत बृहस्पतिवार को पाबंदियां लागू की गईं हैं। राज्य में 31 अगस्त को भी पूर्णबंदी लागू रहेगी। पश्चिम बंगाल में कोविड-19 के 55 रोगियों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बुधवार को बढ़कर 2,964 हो गई। राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन में यह जानकारी दी गई थी। इसके अलावा 2,974 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 1,47,775 हो गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।