CM उद्धव ने केंद्र से प्याज भंडारण की सीमा बढ़ाने की मांग की

 onion storage limit
केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल को 30 अक्टूबर को लिखे एक पत्र में ठाकरे ने कहा कि थोक विक्रेताओं ने मात्र 25 मीट्रिक टन भंडारण सीमा होने के चलते किसानों से प्याज खरीदना बंद कर दिया है।

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने केंद्र सरकार से आग्रह किया है कि राज्य में प्याज के थोक व्यापारियों के लिए भंडारण की सीमा बढ़ाकर 1,500 मीट्रिक टन की जाए। ये व्यापारी सीधे किसानों से प्याज खरीदते हैं। केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल को 30 अक्टूबर को लिखे एक पत्र में ठाकरे ने कहा कि थोक विक्रेताओं ने मात्र 25 मीट्रिक टन भंडारण सीमा होने के चलते किसानों से प्याज खरीदना बंद कर दिया है।

इसे भी पढ़ें: शरद पवार चला रहे राज्य, मुख्यमंत्री ठाकरे से मिलने का कोई फायदा नहीं: चंद्रकांत पाटिल

उन्होंने कहा, “इससे किसानों से उपभोक्ताओं तक की आपूर्ति श्रृंखला बाधित हुई है जिससे खुदरा बाजार में प्याज की कीमतों में उछाल आया है।” उन्होंने कहा, “खरीफ का प्याज नवंबर के पहले सप्ताह से ही आना शुरू होगा। खरीफ का प्याज जल्दी खराब हो जाता है। यदि भंडारण की सीमा के चलते व्यापारियों ने इस प्याज को नहीं खरीदा तो महाराष्ट्र के किसानों को बहुत घाटा हो जाएगा।” मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले छह महीने में प्याज के किसानों को कोविड-19 महामारी के चलते बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने आग्रह किया कि भंडारण की सीमा बढ़ाकर 1,500 मीट्रिक टन की जाए।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़