कश्मीर में हुई नागिरकों की हत्या पर बोले मनोज सिन्हा, मृतकों के परिज़नों के आंसुओं का किया जाएगा हिसाब

कश्मीर में हुई नागिरकों की हत्या पर बोले मनोज सिन्हा, मृतकों के परिज़नों के आंसुओं का किया जाएगा हिसाब

मनोज सिन्हा ने आगे कहा मृतकों के परिज़नों के आंसुओं का ज़रूर हिसाब किया जाएगा। सुरक्षाबलों के साथ इस मामले पर विस्तृत चर्चा हुई है। इन दुश्मनों को बख़्शा नहीं जाएगा।

जम्मू-कश्मीर में नागरिकों पर बढ़े हमलों के बीच श्रीनगर के ईदगाह इलाके में आतंकवादियों ने एक महिला समेत सरकारी विद्यालय के दो शिक्षकों की गोली मार कर हत्या कर दी। शिक्षकों की हत्या की व्यापक तौर पर निंदा की जा रही है। पिछले पांच दिनों के भीतर घाटी में सात नागरिकों की हत्या की जा चुकी है और इनमें चार अल्पसंख्यक समुदाय से थे। इन तमाम घटनाओं को लेकर जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सुरक्षा बलों के साथ एक बैठक की। बैठक के बाद मनोज सिन्हा ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में बहुत दुखद घटनाएं हुईं हैं। जिन लोगों ने अपनी जान गंवाई है उन्हें मैं सच्ची श्रद्धांजलि देता हूं और उनके परिजनों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करता हूं।

मनोज सिन्हा ने आगे कहा मृतकों के परिज़नों के आंसुओं का ज़रूर हिसाब किया जाएगा। सुरक्षाबलों के साथ इस मामले पर विस्तृत चर्चा हुई है। इन दुश्मनों को बख़्शा नहीं जाएगा। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भी इस प्रकार की घटना की निंदा की है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं को अंजाम देने वालों को ‘चूहे के बिल से निकालकर’ उनका हिसाब-किताब किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि ऐसी ताकतों को जम्मू-कश्मीर में शांति एवं समृद्धि का माहौल खराब करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होंने जोर देकर कहा, ‘‘यहां जो अल्पसंख्यक हैं, उनको पूरी तरह महफूज रखना हमारी राष्ट्रीय जिम्मेदारी हैं। 

इसे भी पढ़ें: कश्मीर में हमलों को लेकर राहुल ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- नोटबंदी से आतंकवाद नहीं रुका और...

मृतकों की पहचान शहर के अलूची बाग की निवासी सुपिंदर कौर और जम्मू के निवासी दीपक चंद के रूप में हुई है। ये दोनों संगम इलाके में गवर्नमेंट ब्वॉयज स्कूल में शिक्षक थे। दो शिक्षकों की हत्या के बाद घाटी में पांच दिनों में मारे गए आम नागरिकों की संख्या सात पहुंच गई है, जिनमें से छह की हत्या शहर में हुई है। शनिवार को आतंकवादियों ने श्रीनगर के चट्टाबल के रहने वाले माजिद अहमद गोजरी की हत्या करण नगर में कर दी थी। शनिवार को ही रात में एक अन्य नागरिक मोहम्मद शफी डार को एस डी कालोनी बटमालू में गोली मारी गई, जिसमें वह घायल हो गए और बाद में उनकी मौत हो गई। मंगलवार को श्रीनगर के मशहूर दवा दुकान के मालिक माखन लाल बिंदरू समेत तीन नागरिकों की हत्या कर दी गई। दो घंटे के भीतर श्रीनगर और बांदीपोरा में अलग-अलग घटनाओं में इन वारदातों को अंजाम दिया था।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।