मनसुख हिरन मौत मामला: महाराष्ट्र एटीएस ने व्यवसायी को एनआईए को सौंपा

Mansukh hiren death case
महाराष्ट्र आतंक-रोधी दस्ते (एटीएस) ने मनसुख हिरन की हत्या के मामले की जांच के संबंध में मंगलवार को एक व्यवसायी को एनआईए को सौंप दिया। एटीएस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

मुंबई। महाराष्ट्र आतंक-रोधी दस्ते (एटीएस) ने मनसुख हिरन की हत्या के मामले की जांच के संबंध में मंगलवार को एक व्यवसायी को एनआईए को सौंप दिया। एटीएस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। हिरन ठाणे का रहने वाला था और कथित तौर पर उस एसयूवी कार का मालिक था जो उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर 25 फरवरी को पाई गई थी। इस कार में विस्फोटक सामग्री रखी थी। हिरन का शव पांच मार्च को ठाणे के मुंब्रा क्रीक में पाया गया था।

इसे भी पढ़ें: पीडीपी के वरिष्ठ नेता चौधरी ने पार्टी छोड़ी, नेतृत्व को ठहराया जिम्मेदार

अधिकारी ने बताया कि राज्य एटीएस ने हिरन की हत्या की जांच के सिलसिले में निलंबित पुलिस कांस्टेबल विनायक शिंदे और क्रिकेट सटोरिये नरेश गौर को गुजरात से सिम कार्ड खरीदने के संबंध में गिरफ्तार किया था। उन्होंने कहा कि एटीएस ने कोयले का व्यवसाय करने वाले एक व्यक्ति का बयान भी दर्ज किया था। अधिकारी ने कहा कि एटीएस ने व्यवसायी को मंगलवार को एनआईए के हवाले कर दिया। उन्होंने कहा कि आगे की कार्रवाई केंद्रीय एजेंसी करेगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़