गुजरात चुनावों में कई मुख्यमंत्रियों ने किया जमकर प्रचार, लेकिन किसकी सभाओं में उमड़ी सबसे ज्यादा भीड़?

yogi kejriwal
ANI
गौतम मोरारका । Nov 30, 2022 2:59PM
गुजरात विधानसभा चुनावों के प्रचार के दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी के बाद असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा की सभाओं में भी खूब भीड़ उमड़ी। कहा जा सकता है कि गुजरात चुनाव ने हिमंत बिस्व सरमा के रूप में भाजपा को एक नया स्टार प्रचारक दे दिया है।

गुजरात विधानसभा चुनावों के पहले चरण का प्रचार कार्य समाप्त हो चुका है। इस दौरान विभिन्न दलों के राष्ट्रीय और प्रांतीय नेताओं ने खूब जमकर प्रचार किया। विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री भी गुजरात में चुनाव प्रचार के लिए पहुँचे। इनमें भाजपा की ओर से बात करें तो खुद गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल के अलावा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा, गुजरात के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस प्रमुख रहे।

अन्य दलों की बात करें तो आम आदमी पार्टी के चुनाव प्रचार की कमान खुद पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने संभाली तो उनके अलावा पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान भी सारा समय गुजरात में ही चुनाव प्रचार करते रहे। इसके अलावा दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी गुजरात में अपनी पार्टी के लिए जमकर प्रचार किया।

कांग्रेस की ओर से प्रचार करने वाले मुख्यमंत्रियों में अशोक गहलोत प्रमुख रहे। अशोक गहलोत गुजरात चुनाव में कांग्रेस के प्रभारी भी हैं इसलिए उन्होंने चुनाव प्रचार के अलावा संगठन से जुड़े कामों में भी काफी योगदान दिया। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी गुजरात चुनावों में सक्रिय रहे। अब चूंकि कांग्रेस के पास दो ही राज्यों में मुख्यमंत्री हैं इसलिए गहलोत और बघेल ही प्रचार के लिए आ पाये। हालांकि कांग्रेस के कई पूर्व मुख्यमंत्रियों ने जरूर गुजरात आकर चुनाव प्रचार किया। इनमें मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ, गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण आदि प्रमुख रहे।

वहीं मुख्यमंत्रियों की सभाओं में उमड़ी भीड़ के लिहाज से देखें तो भले अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी के रोड शो और सभाओं में अच्छी खासी भीड़ दिखी लेकिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस मायने में सबसे आगे रहे जिनकी एक झलक पाने और संबोधन सुनने की ललक जनता में सबसे ज्यादा देखने को मिली। योगी आदित्यनाथ की सभाओं में भीड़ के लिहाज से नये रिकॉर्ड भी बने। गोधरा में उनके रोड शो के दौरान जिस प्रकार जनता उमड़ी, उसने यह भी दर्शाया कि भारतीय राजनीति में योगी आदित्यनाथ का इस समय क्या कद है। योगी आदित्यनाथ के बाद असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा की सभाओं में भी खूब भीड़ उमड़ी। कहा जा सकता है कि गुजरात चुनाव ने हिमंत बिस्व सरमा के रूप में भाजपा को एक नया स्टार प्रचारक दे दिया है।

-गौतम मोरारका

अन्य न्यूज़