मौलाना तौकीर रजा की बहू निदा खान भाजपा में शामिल, सपा-बसपा के कई नेताओं ने भी बदला पाला

Maulana Tauqir Raza daughter in law
अंकित सिंह । Jan 30, 2022 3:32PM
बरेली की तीन तलाक पीड़िता निदा खान ने कहा कि मैं भाजपा में इसलिए शामिल हुई हूं क्योंकि यह तीन तलाक कानून लेकर आई और सभी धर्मों की महिलाओं के सशक्तिकरण का भी काम किया। उन्होंने कहा कि मेरे साथ अन्याय होते आए हैं।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले दलबदल का सिलसिला भी लगातार जारी है। इन सबके बीच आज बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के कई नेताओं ने भाजपा का दामन थाम लिया। जानकारी के मुताबिक 21 ऐसे लोग हैं जिन्होंने आज भाजपा का दामन थामा है। इनमें ऐसे कई नेता भी हैं जो अपनी पार्टियों के लिए वर्षों से जमीन पर काम करते रहे हैं। लेकिन आज खास बात यह भी है कि मौलाना तौकीर रजा खां की बहू निदा खान ने भी भाजपा की सदस्यता ले ली है। निदा खान ने दावा किया कि वह पार्टी के कार्यों से प्रभावित होकर इसमें शामिल हो रही हैं।

इसे भी पढ़ें: हिंदुओं के खिलाफ विवादित बयान देने वाले मौलाना ने कांग्रेस से किया गठबंधन, संबित पात्रा बोले- धिक्कार है

बरेली की तीन तलाक पीड़िता निदा खान ने कहा कि मैं भाजपा में इसलिए शामिल हुई हूं क्योंकि यह तीन तलाक कानून लेकर आई और सभी धर्मों की महिलाओं के सशक्तिकरण का भी काम किया। उन्होंने कहा कि मेरे साथ अन्याय होते आए हैं। मुझे अब किसी पर भरोसा नहीं है। इसलिए मैं भाजपा में शामिल हो रही हूं। उन्होंने भरोसा जताया कि मुस्लिम महिलाएं निश्चित तौर पर इस बार भाजपा का समर्थन करेंगी। आपको बता दें कि आज इतने लोगों ने भाजपा का दामन थामा है उन्हें लखनऊ में सदस्यता दिलाई गई है।

इसे भी पढ़ें: मोहम्मद मुस्तफा के बयान से पंजाब में भी हो गयी है साम्प्रदायिक राजनीति की शुरुआत

तौकीर रजा अक्सर विवादों में रहते हैं। हाल में ही उन्होंने कांग्रेस के समर्थन का ऐलान किया था। निदा खान का निकाह आल्हा हजरत खानदान के मौलाना उस्मान रजा खां उर्फ अंजुम मियां के पुत्र शीरान रजा खां के साथ हुआ था। मौलाना उस्मान तौकीर रजा खां के बड़े भाई हैं। इस नाते निदा खान भी तौकीर रजा की बहू हुईं। निदा शीरान रजा का लगभग 1 साल पहले तलाक हो गया था। मामला तीन तलाक का बना और निदा ने लंबी लड़ाई भी लड़ी है। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़