विधायकों से मायावती की अपील, दलगत राजनीति से उपर उठकर जनहित के मुद्दे उठाये

मायावती
उत्तर प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र बृहस्पतिवार 20 अगस्त से शुरू हो गया। कोरोना वायरस संक्रमणके मद्देनजर सदस्य सामाजिक दूरी बनाने और मॉस्क पहनने के साथ साथ कोविड-19 प्रोटोकाल सुनिश्चित करते हुए सदन की बैठक में शामिल हो रहे हैं।
लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने शुक्रवार को सभी विधायकों से अपील की कि वे विधानसभा के मानसून सत्र में दलगत राजनीति से उपर उठकर जनहित के मुद्दों को सदन में प्रभावशाली ढंग से उठायें और शासन प्रशासन को जवाबदेह बनायें। मायावती ने ट्वीट किया, ‘‘उत्तर प्रदेश में सत्ता व विपक्ष के विधायकों से मेरी पुरजोर अपील है कि वे विधानसभा के चल रहे वर्तमान सत्र में दलगत राजनीति से उपर उठकर जनहित के विशेष मुद्दों को प्रभावी ढंग से सदन में उठाकर शासन-प्रशासन को जिम्मेदार व जवाबदेह बनायें।’’ उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘वैसे तो विकास का मुद्दा सरकार के एजेण्डे से काफी हद तक गायब है, किन्तु महिला उत्पीड़न तथा दलितों, मुस्लिमों और ब्राह्मण समाज के लोगों आदि की द्वेष की भावना से हो रही हत्याएं तथा अन्य अत्याचार आदि की अर्थात यूपी में बिगड़ी कानून-व्यवस्था पर आवाज जरूर उठायें, समय की यह माँग है।’’ उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र बृहस्पतिवार 20 अगस्त से शुरू हो गया। कोरोना वायरस संक्रमणके मद्देनजर सदस्य सामाजिक दूरी बनाने और मॉस्क पहनने के साथ साथ कोविड-19 प्रोटोकाल सुनिश्चित करते हुए सदन की बैठक में शामिल हो रहे हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़