बैठक में शामिल होने दिल्ली पहुंची महबूबा मुफ्ती, कहा- PM मोदी से खुले मन से होगी बात

बैठक में शामिल होने दिल्ली पहुंची महबूबा मुफ्ती, कहा- PM मोदी से खुले मन से होगी बात

दिल्ली पहुंचते ही पीडीपी चीफ ने कहा है कि मैं यहां खुले दिमाग से प्रधानमंत्री मोदी से बात करने आई हूं। इससे पहले श्रीनगर में गुपकार की बैठक के बाद फारूक अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘हमें प्रधानमंत्री का निमंत्रण मिला है और हम (बैठक में) शामिल होंगे।’’

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती 24 जून को पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली पहुंचीं। जबकि नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला गुरुवार को पहुंचेंगे। दिल्ली पहुंचते ही पीडीपी चीफ ने कहा है कि मैं यहां खुले दिमाग से प्रधानमंत्री मोदी से बात करने आई हूं। इससे पहले श्रीनगर में गुपकार की बैठक के बाद फारूक अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘हमें प्रधानमंत्री का निमंत्रण मिला है और हम (बैठक में) शामिल होंगे।’’ पीएजीडी अध्यक्ष ने कहा कि गठबंधन को विश्वास है कि वह बैठक के दौरान प्रधानमंत्री और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सामने अपना पक्ष रखने में सक्षम होगा। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘बैठक समाप्त होने के बाद हम आपको यहां और दिल्ली में बताएंगे कि हमने वहां क्या किया, हमने क्या कहा और उनकी प्रतिक्रिया क्या थी।” यह पूछे जाने पर कि गठबंधन का क्या रुख होगा, अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘आप सभी हमारे रुख के बारे में जानते हैं और इसे दोहराने की जरूरत नहीं है। हमारा पहले जो रुख था, वह अब भी है और आगे भी वही रहेगा।’’

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़

गौरतलब है कि  केंद्र शासित प्रदेश के लिए भविष्य की कार्रवाई पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बुलाई बृहस्पतिवार की बैठक के लिए अब्दुल्ला सहित जम्मू कश्मीर के16 नेताओं को आमंत्रित किया गया है। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370, 35ए हटने के बाद केंद्र द्वारा राज्य के नेताओं द्वारा संवाद की ये सबसे बड़ी पहल मानी जा रही है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...