पाक पर महबूबा का बयान निजी, मुझे अपने वतन पर करनी है बात: फारूक अब्दुल्ला

पाक पर महबूबा का बयान निजी, मुझे अपने वतन पर करनी है बात: फारूक अब्दुल्ला

फारूक अब्दुल्ला ने यह भी कहा कि पीडीपी का जो एजेंडा है उसके तहत ही महबूबा मुफ्ती बात कर रही हैं। वह एक दल की नेता है जबकि मैं दूसरे दल का नेता हूं। उन्होंने प्रधानमंत्री के आमंत्रण को भी अच्छा बताया। 370 पर मीडिया में बातचीत करने की बजाय उन्होंने कहा कि जो कुछ भी है हम प्रधानमंत्री के पास अपनी बात रखेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अध्यक्षता में जम्मू और कश्मीर को लेकर होने वाली बैठक से पहले राजनीति तेज हो गई है। इन सबके बीच जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने बड़ा बयान दिया है। फारूक अब्दुल्ला ने साफ तौर पर कहा कि मुझे पाकिस्तान पर कोई बातचीत नहीं करनी है। मुझे अपने वतन पर बात करनी है। उन्होंने महबूबा के पाक राख से साफ तौर पर किनारा कर लिया। फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि हमें प्रधानमंत्री से बात करनी है और अपनी बात रखनी है।

एक चैनल से बातचीत में फारूक अब्दुल्ला ने यह भी कहा कि पीडीपी का जो एजेंडा है उसके तहत ही महबूबा मुफ्ती बात कर रही हैं। वह एक दल की नेता है जबकि मैं दूसरे दल का नेता हूं। उन्होंने प्रधानमंत्री के आमंत्रण को भी अच्छा बताया। 370 पर मीडिया में बातचीत करने की बजाय उन्होंने कहा कि जो कुछ भी है हम प्रधानमंत्री के पास अपनी बात रखेंगे।

इसे भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर पर पीएम मोदी की बड़ी बैठक आज, शामिल होंगे 8 पार्टियों के 14 बड़े नेता

आपको बता दें कि फारूक अब्दुल्ला का यह बयान महबूबा मुफ्ती के उस बयान से बिल्कुल उलट है जिसमें महबूबा ने पाकिस्तान से भी बातचीत करने को कहा था। पाकिस्तान से बातचीत करने के आह्वान को लेकर महबूबा मुफ्ती लगातार निशाने पर थीं। आपको बता दें कि फारुख अब्दुल्ला भी उसी गुपकार गठबंधन के हिस्सा है जिसमें महबूबा मुफ्ती भी शामिल है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।