गांधी की हत्या के लिए जिम्मेदार सांप्रदायिक विचारधारा देश के सामने सबसे बड़ी चुनौती : विजयन

Pinarayi Vijayan
विजयन ने शहीद दिवस पर अपने संदेश में कहा कि गांधीजी की स्मृतियां पहलेकी तुलना में अब अधिक प्रासंगिक हैं। उन्होंने लोगों से सांप्रदायिकता का डटकर मुकाबला करने एवं भाईचारे को बढ़ावा देने का संकल्प लेने की अपील की।

तिरुवनंतपुरम|  केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने रविवार को कहा कि महात्मा गांधी की हत्या के लिए जिम्मेदार सांप्रदायिक विचारधारा देश के सामने सबसे बड़ी चुनौती बन गयी है और वह अब भी धर्म के नाम लोगों की ‘जान ले रही’ है

विजयन ने शहीद दिवस पर अपने संदेश में कहा कि गांधीजी की स्मृतियां पहलेकी तुलना में अब अधिक प्रासंगिक हैं। उन्होंने लोगों से सांप्रदायिकता का डटकर मुकाबला करने एवं भाईचारे को बढ़ावा देने का संकल्प लेने की अपील की।

उन्होंने महात्मा गांधी की 74वीं पुण्यतिथि पर ट्वीट किया, ‘‘ महात्मा गांधी की हत्या उन्हीं ताकतों ने की जो अब तक धर्म के नाम पर लोगों का जान ले रही हैं। वे आज हमारे देश के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं। गांधी की स्मृति पहले से आज अधिक प्रासंगिक है। यह शहीद दिवस है , हम सांप्रदायिकता का डटकर मुकाबला करने एवं भाईचारे को बढ़ावा देने का संकल्प लें।’’

विजयन ने कहा कि संप्रदायवाद हर तरह से जड़ें जमा रही हैं और लोकतंत्र की बुनियाद को हिला रही हैं एवं निर्दोष लोग इसके शिकार हो रहे हैं।

उन्होंने फेसबुक पर लिखा, ‘‘ जिस सांप्रदायिक विचारधारा की वजह से महात्मा गांधी की हत्या की गयी थी, वह देश के सामने सबसे बड़ा खतरा बन गया है....हम दुनिया भर में सम्मानित महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के दिन नस्लवादियों की खुशी भी देख रहे हैं। यह सबसे बड़ी चुनौती है जिसका हम भारतीय बतौर एक समुदाय सामना कर रहे हैं। हमें सबसे दृढ राजनीतिक संकल्प के साथ उस चुनौती से निपटना चाहिए।’’

नाथूराम गोडसे ने 1948 में आज ही के दिन गांधीजी की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़