मेट्रो का सफर आसान मगर एंट्री के लिए करना पड़ रहा भारी संघर्ष, लगी लंबी-लंबी कतारें

मेट्रो का सफर आसान मगर एंट्री के लिए करना पड़ रहा भारी संघर्ष, लगी लंबी-लंबी कतारें

ऐसे में मेट्रो से सफर करने वाले यात्रियों को अब काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। मेट्रो से यात्रा करने वालों की तादाद लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में भीड़भाड़ को देखते हुए ज्यादातर मेट्रो के एंट्री गेट को समय-समय पर बंद करना पड़ रहा है।

दिल्ली में मेट्रो से यात्रा करने वाले लोगों को सुबह और शाम में विषम परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, मेट्रो के तमाम एंट्री गेटों पर लंबी लाइन देखी जा रही है। दिल्ली में लॉकडाउन खत्म होने के बाद लगभग सभी ऑफिस खुल चुके हैं। ऐसे में लोगों को अपने ऑफिस जाना पड़ रहा है। सुबह 10:00 से शाम के 6:00 की शिफ्ट के लिए अगर आप मेट्रो से जाना चाहते हैं तो आपको लंबी लाइन का सामना करना पड़ता है। कई ऐसे मेट्रो स्टेशन है जहां एक 1 घंटे तक यात्रियों को लाइन में खड़ा रहना पड़ रहा है। ऐसे में मेट्रो से सफर करने वाले यात्रियों को अब काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। मेट्रो से यात्रा करने वालों की तादाद लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में भीड़भाड़ को देखते हुए ज्यादातर मेट्रो के एंट्री गेट को समय-समय पर बंद करना पड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें: दीवारों पर छलांग लगाने से लेकर मेट्रो में यात्रियों के साथ सफर करने तक, सोशल मीडिया पर धमाल मचा रहे बंदरों के वीडियो

सुबह में और शाम में मेट्रो स्टेशनों के बाहर लंबी कतारें देखने को मिल रही है। हालांकि, राहत की बात यह है कि मेट्रो के अंदर आपको फिलहाल इस तरह की भीड़ देखने को नहीं मिल रही है। पर यह बात भी सच है कि मेट्रो को सिर्फ 50% सीटिंग क्षमता के साथ ही चलाने के निर्णय लिए गए हैं। फिर भी लोग अंदर बोगी में खड़े होकर यात्रा कर रहे है। वैशाली, निर्माण विहार, नोएडा सेक्टर 62, मयूर विहार, ग्रीन पार्क, हुडा सिटी सेंटर, एमजी रोड, कश्मीरी गेट, द्वारका मोड़, चावड़ी बाजार, राजीव चौक पर यात्रियों की लंबी कतारें देखने को मिल रही है। माना जा रहा है कि जब तक सरकार की ओर से मेट्रो के लिए नई गाइडलाइन नहीं आती है तब तक इसको लेकर कुछ खास नहीं किया जा सकता।

बुधवार को राजीव चौक मेट्रो स्टेशन के अंदर प्रवेश के लिए लगभग 1 घंटे 20 मिनट तक का इंतजार करना पड़ा। राजीव चौक मेट्रो स्टेशन के गेट नंबर 7 पर लंबी लाइन देखने को मिली। द्वारका मोड़ से नोएडा सेक्टर 62 के यात्रा के लिए लगभग 80 मिनट लगते हैं लेकिन इतना ही इंतजार मेट्रो स्टेशन में प्रवेश के लिए वर्तमान समय में करना पड़ रहा है। लॉकडाउन से पहले तक मेट्रो में हर रोज 20 लाख लोग यात्रा करते थे। 7 जून को जब मेट्रो दोबारा शुरू हुई तो 6.4 लाख लोगों ने यात्रा की। हालांकि 23 जून आते-आते 14.99 लोग प्रतिदिन यात्रा करने लगे। आने वाले दिनों में यात्रियों की संख्या में भारी इजाफा देखने को मिल सकता है। यात्रियों को सबसे ज्यादा परेशानी इस बात की भी है कि उन्हें घंटों धूप में लंबी लाइन में इंतजार करना पड़ रहा है। बावजूद इसके मेट्रो की ओर से कोई खास व्यवस्था नहीं की जा रही है।

इसे भी पढ़ें: पीक आवर्स में दिल्‍ली मेट्रो का बढ़ रहा वेटिंग टाइम, ट्रैवल करने से पहले पढ़ें ये खबर

शिकायत करने के बाद मेट्रो की ओर से केवल भीड़ को कम करने के लिए टिकट काउंटर को बंद किया जा रहा है। साथ ही साथ कम क्षमता में यात्रा करने की भी सलाह दी जा रही है। हालांकि यह बात भी सच है कि अगर कार्यालय खुल रहे हैं तो लोग अपने काम पर जाएंगे। ऐसे में डीएमआरसी को इसको लेकर मंथन करने के साथ-साथ उपायों पर भी ध्यान देना होगा। मेट्रो में लंबी लाइन की वजह से कई लोगों को ऑफिस पहुंचने में देरी हो रही है। ऐसे में उन्हें सैलरी कटने का भी डर सता रहा है। साथ ही साथ अपने डेली रूटीन को भी बदलने की जरूरत पड़ रही है। यात्रियों को इस बात की भी चिंता सता रही है कि जिस तरह से लंबी लाइनें लग रही है उसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है। गेट कम खुलने की वजह से एक ही गेट से प्रवेश करना पड़ रहा है। ऐसे में अचानक भगदड़ जैसी स्थिति हो जा रही है। यह भी दावा किया जा रहा है कि अगर इसी तरीके से यह व्यवस्था चलती रहे तो एक बार फिर से कोरोना संक्रमण का खतरा बन जाएगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।