लालू के खिलाफ शिकायत करने वाले विधायक ने कहा, मुझे शारीरिक एवं मानसिक नुकसान की आशंका

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 27, 2020   18:38
लालू के खिलाफ शिकायत करने वाले विधायक ने कहा, मुझे शारीरिक एवं मानसिक नुकसान की आशंका

पासवान को जेल में बंद राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कथित तौर पर फोन किया था। पीरपैंती के विधायक पासवान ने यह दावा उस वक्त किया जब राजद सुप्रीमो के छोटे बेटे और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव नवगठित विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा में हिस्सा ले रहे थे।

पटना। भाजपा विधायक ललन कुमार पासवान ने शुक्रवार को बिहार विधानसभा में कहा कि लालू प्रसाद जैसे ‘‘शक्तिशाली’’ नेता का भंडाफोड़ करने के बाद उन्हें ‘‘शारीरिक एवं मानसिक नुकसान’’ की आशंका है। पासवान को जेल में बंद राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कथित तौर पर फोन किया था। पीरपैंती के विधायक पासवान ने यह दावा उस वक्त किया जब राजद सुप्रीमो के छोटे बेटे और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव नवगठित विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा में हिस्सा ले रहे थे। 

इसे भी पढ़ें: फोन कॉल विवाद: लालू की बढ़ी मुश्किलें, बंगले से अस्पताल में किए गए शिफ्ट

अपनी सीट से उठते हुए पासवान ने अध्यक्ष से कहा, ‘‘मैंने एक राजनीतिक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष के टेलीफोन कॉल का खुलासा किया है।मुझे आशंका है कि मुझे और मेरे परिवार के लोगों को मुझे प्रलोभन देने वाले शक्तिशाली लोगों से शारीरिक एवं मानसिक क्षति पहुंचाई जा सकती है।’’ पासवान ने कल ही प्रसाद के खिलाफ राज्य निगरानी विभाग में शिकायत दर्ज कराई थी। चारा घोटाला मामले में संलिप्तता के लिए रांची में सजा काट रहे प्रसाद ने मंगलवार को कथित कॉल करके पासवान से विधानसभा अध्यक्ष के लिए होने वाले चुनाव में ‘‘अनुपस्थित’’ रहने के लिए कहा था। 

इसे भी पढ़ें: जेल से 'चारा' डाल फंसे लालू, निशाने पर सोरेन सरकार

सदन में बयान देने के बाद पासवान ने कहा, ‘‘इस सदन के सदस्य के तौर पर मैं सुरक्षा की मांग करता हूं। इस तरह के खराब राजनीतिक माहौल में मैं असुरक्षित महसूस कर रहा हूं। अभी भी इस तरह की धारणा है कि कमजोर तबके के लोग बिक्री के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।’’ मंत्री श्रवण कुमार ने कहा, ‘‘वास्तव में यह गंभीर मामला है। सदन को अपने सदस्यों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।