मोदी ने फिर चेताया, कहा- टीकाकरण के बाद करें दवाई भी-कड़ाई भी मंत्र का पालन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 31, 2020   13:38
मोदी ने फिर चेताया, कहा- टीकाकरण के बाद करें दवाई भी-कड़ाई भी मंत्र का पालन

जन औषधि केन्द्र’ बीमारी में गरीब लोगों के लिए एक मित्र की भूमिका भी निभाता है। देश में सात हजार से अधिक ऐसे केन्द्र लोगों को 90 प्रतिशत सस्ती दवाइयां उपलब्ध करा रहे हैं। रोजाना 3.5 लाख से अधिक गरीब इन केन्द्रों का इस्तेमाल करते हैं।

अहमदाबाद। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोविड-19 का टीका आने के बाद भी लोग लापरवाही ना बरतें। राजकोट में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) की आधारशिला रखे जाने के कार्यक्रम में मोदी ने कहा कि देश में कोविड-19 के नए मामलों की संख्या में कमी आई है। मोदी ने कहा, ‘‘मैं कहता था कि ‘‘जब तक दवा नहीं, तब तक ढिलाई नहीं’’.... लेकिन 2021 का मंत्र होगा ‘‘दवाई भी, कड़ाई भी’’। मोदी ने कहा कि देश में कोविड-19 के टीकाकरण कार्यक्रम की तैयारी आखिरी चरण में है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम भारत में चिकित्सा शिक्षा में सुधार के लिए मिशन मोड में काम कर रहे हैं। राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग के गठन के बाद स्वास्थ्य शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होगा।’’ उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के जरिए गरीब लोगों का 30,000 करोड़ रुपये से अधिक धन बचाया गया। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ ‘जन औषधि केन्द्र’ बीमारी में गरीब लोगों के लिए एक मित्र की भूमिका भी निभाता है। देश में सात हजार से अधिक ऐसे केन्द्र लोगों को 90 प्रतिशत सस्ती दवाइयां उपलब्ध करा रहे हैं। रोजाना 3.5 लाख से अधिक गरीब इन केन्द्रों का इस्तेमाल करते हैं।’’ मोदी ने कहा, ‘‘ पिछले छह साल में हमने 10 एम्स का काम शुरू किया और 20 ‘सुपर स्पेशियलिटी’ अस्पताल भी बनाए जा रहे हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।