मुरादाबाद में AIMIM की फजीहत, होटल ने किया ओवैसी को कमरा देने से इनकार

मुरादाबाद में AIMIM की फजीहत,  होटल ने किया ओवैसी को कमरा देने से इनकार

असदुद्दीन ओवैसी की मुरादाबाद में जनसभा होनी थी। एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ड्राइव इन 24 होटल में ठहरे हुए थे लेकिन जब आज होटल वालों के ये बताया गया कि असदुद्दीन ओवैसी रात को इसी होटल में रूकना चाहते हैं तो होटल के प्रशासनिक बॉडी ने साफ मना कर दिया।

एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दौरे पर हैं। लेकिन मुरादाबाद के एक होटल ने ओवैसी को कमरा देने से मना कर दिया। समर्थकों की भीड़ की वजह से होटल का कमरा नहीं खोला गया। प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने इस पर नाराजगी जताई है। शौकत अली ने होटल में खूब हंगामा किया। इसके साथ ही जिला प्रशासन पर कई आरोप भी लगाए। मंझोला इलाके के ड्राइव इन 24 होटल का ये सारा मामला बताया जा रहा है। होटल की तरफ से असदुद्दीन ओवैसी को कमरा देने से इनकार किया गया। इसके बाद जिला प्रशासन पर एआईएमआईएम की तरफ से कई आरोप लगाए गए।  

इसे भी पढ़ें: नोएडा में पुलिस के साथ मुठभेड़ के बाद 25 हजार रुपए का इनामी बदमाश गिरफ्तार

क्या है पूरा मामला

असदुद्दीन ओवैसी की मुरादाबाद में जनसभा होनी थी। एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ड्राइव इन 24 होटल में ठहरे हुए थे लेकिन जब आज होटल वालों के ये बताया गया कि असदुद्दीन ओवैसी रात को इसी होटल में रूकना चाहते हैं तो होटल के प्रशासनिक बॉडी ने साफ मना कर दिया। इस बात को लेकर प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली और होटल स्टॉफ के बीच में कहासुनी हुई।एआईएमआईएम की तरफ से आरोप लगाया, ‘होटल मैनेजमेंट बता रहा है कि पुलिस ने असदुद्दीन ओवैसी को कमरा देने से मना किया है।

बता दें कि इससे पहले गुजरात के साबरमती जेल में बंद बाहुबली अतीक अहमद के बेटे अली अहमद के साथ असदुद्दीन ओवैसी की होने वाली जनसभा स्थगित कर दिया गया था। 9 जनवरी को प्रयागराज में होने वाली जनसभा से पहले ही अली अहमद के खिलाफ गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज हुई और जिसके बाद ओवैसी को ये फैसला लेना पड़ा।  





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।