कोरोना की दूसरी लहर से जंग लड़ते हुए 550 से ज्यादा डॉक्टरों की चली गयी जान : IMA

कोरोना की दूसरी लहर से जंग लड़ते हुए 550 से ज्यादा डॉक्टरों की चली गयी जान : IMA
प्रतिरूप फोटो

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर काफी भयानक रूप में देखा गया है। कोरोना वायरस से लाखों लोगों ने अपनी जिंदगी को गवां दिया है। कोरोना से जंग में भगवान की तरह साथ दिया है डॉक्टर्स ने।

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर काफी भयानक रूप में देखा गया है। कोरोना वायरस से लाखों लोगों ने अपनी जिंदगी को गवां दिया है। कोरोना से जंग में भगवान की तरह साथ दिया है डॉक्टर्स ने। कोरोना वायरस महामारी के काल में डॉक्टर्स मरीजों के लिए भगवान बन गये हैं। काम भगवान वाला लेकिन शरीर तो इंसान का ही है। ऐसे में कोरोना से जंग लड़ते हुए कई डॉक्टर्स ने भी दम तोड़ दिया। लॉकडाउन में अपना कर्तव्य निभाते हुए मरीजों की सेवा करते हुए हजारों डॉक्टर्स की मौत हुई हैं।  

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने शनिवार को कहा कि कोविड -19 की दूसरी लहर के कारण देश भर में 550 डॉक्टरों की जान चली गई है। डॉक्टरों के संघ ने सुझाव दिया कि मौतों की वास्तविक संख्या अधिक हो सकती है क्योंकि यह केवल अपने 3.5 लाख सदस्यों का रिकॉर्ड रखता है। हालाँकि, भारत में 12 लाख से अधिक डॉक्टर हैं। इस दौरान सबसे ज्यादा डॉक्टर्स की मौतें दिल्ली में हुआ। कोरोना वायरस से संक्रमित होने से दिल्ली के 104 डॉक्टर्स ने दम तोड़ा। दूसरे नंबर पर बिहार है जहां कोरोना से संक्रमित 96 डॉक्टर्स ने दम तोड़ा। महाराष्ट्र में 16, गुजरात में 31, उत्तर प्रदेश में 53, राजस्थान में 41, आंध्रप्रदेश में 29 से ज्यादा डॉक्टर्स की जान चली गयी।

इसे भी पढ़ें: डॉक्टरों, स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने ओडिशा सरकार को व्यापक स्तर पर टीकाकरण का सुझाव दिया

भारत में 45 दिन बाद कोरोना वायरस के मामलों में कमी देखी जा रही हैं। दूसरी लहर कमजोर पड़ रही हैं। यह खतनाक बीमारी दूसरी लहर में तबाही लेकर आयी और अपने सैलाब में लाखों जिंदगियां बहा ले गयी। कोरोना वायरस से बचने का इस समय मात्र एक ईलाज माना जा रहा है वो हैं टीकाकरण। भारत में टीकाकरण अभियान जोरों से चलाया जा रहा है लेकिन वैक्सीन की कमी के कारण कई राज्यों में टीकाकरण रुका हुआ हैं।

इसे भी पढ़ें: शहीद नवीन को गार्ड ऑफ ऑनर के साथ दी गई अंतिम विदाई, श्रद्धांजलि देने उमड़ा जनसैलाब 

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के अनुसार, 28 मई तक कोविड-19 के लिए कुल 34,11,19,909 नमूनों का परीक्षण किया गया है। जिनमें से कल 20,80,048 नमूनों की जांच की गई। दैनिक मामलों में गिरावट की प्रवृत्ति को बनाए रखते हुए, भारत ने शनिवार को कोविद -19 के 1,73,790 नए मामले दर्ज किए। भारत में मामले की सकारात्मकता दर घटकर 8.36 प्रतिशत रह गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटों में सक्रिय मामलों में 1,14,428 की कमी के साथ देश में सक्रिय केसलोएड घटकर 22,28,724 हो गया।

पिछले 24 घंटों के दौरान 2,84,601 रोगियों के ठीक होने के साथ, दैनिक मामलों में दैनिक वसूली जारी रही। देश में अब तक संक्रमण से उबरने वाले कुल 2,51,78,011 मरीजों के साथ स्वस्थ होने की दर बढ़कर 90.80 प्रतिशत हो गई है। देश ने पिछले 24 घंटों में 3,617 मौतें भी दर्ज की हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।