फेक न्यूज़ को रोकना बेहद जरूरी, नायडू बोले- यह भ्रम और दहशत का कारण बनती हैं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2019   08:40
फेक न्यूज़ को रोकना बेहद जरूरी, नायडू बोले- यह भ्रम और दहशत का कारण बनती हैं

भारतीय महिला प्रेस कोर (आईडब्ल्यूपीसी) के रजत जयंती समारोह में नायडू ने फर्जी और छेड़छाड़ की गई खबर को ‘खतरा’ बताया और कहा कि यह अक्सर अव्यवस्था, भ्रम और दहशत का कारण बनती हैं।

नयी दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम वैकेंया नायडू ने ‘फेक न्यूज़’ के ‘खतरे’ पर चिंता जताते हुए बृहस्पतिवार को भारतीय प्रेस परिषद और न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन से इसे रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाये जाने का अनुरोध किया। उन्होंने पाठकों और दर्शकों को सूचना के प्रसार में निष्पक्षता और सटीकता बनाए रखने की आवश्यकता पर भी जोर दिया।

इसे भी पढ़ें: फेक न्यूज पर मोदी सरकार का FACT लगाएगा ब्रेक

भारतीय महिला प्रेस कोर (आईडब्ल्यूपीसी) के रजत जयंती समारोह में नायडू ने फर्जी और छेड़छाड़ की गई खबर को ‘खतरा’ बताया और कहा कि यह अक्सर अव्यवस्था, भ्रम और दहशत का कारण बनती हैं। उपराष्ट्रपति की ओर से जारी बयान में यह बाते कही गई।

इसे भी पढ़ें: जनसरोकारों से दूरी रखते हुए अपना प्रसार करता चला जा रहा है मीडिया

उन्होंने कहा कि मीडिया पर यह बड़ी जिम्मेदारी है कि वह न सिर्फ लोगों को सटीक जानकारी मुहैया कराए बल्कि लोगों को उनके अधिकारों और जिम्मेदारियों के बारे में भी जागरूक करे। उन्होंने भारतीय प्रेस परिषद और न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन से सामूहिक प्रयास करके फेक न्यूज को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाये जाने की अपील की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।