70 साल के बेरहम नाना ने अपनी ही 12 साल की नातिन और बेटी का कराया रेप, बदले में मिलते थे 500 रुपये

70 साल के बेरहम नाना ने अपनी ही 12 साल की नातिन और बेटी का कराया रेप, बदले में मिलते थे 500 रुपये
Prabhasakshi

5 माह की गर्भवती पीड़िता ने अपनी आपबीती मजिस्ट्रेट के सामने सुनाई और आरोपियों को सख्त सजा देने की गुहार भी लगाई। पुलिस ने इस मामले में पीड़िता के 70 साल के नाना समेत तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच की जा रही है।

राजस्थान के बून्दी जिले से रोंगटे खड़ी कर देने वाली खबर सामने आ रही है। तालेड़ा थाना क्षेत्र के गांव में 12 साल की छठी क्लास में पढ़ने वाली छात्रा के साथ गैंगरेप किया। 5 माह की गर्भवती पीड़िता ने अपनी आपबीती मजिस्ट्रेट के सामने सुनाई और आरोपियों को सख्त सजा देने की गुहार भी लगाई। पुलिस ने इस मामले में पीड़िता के 70 साल के नाना समेत तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच की जा रही है। आरोप है कि नाना बहुत शराबी था और इस लत के कारण उसने अपने शराबी दोस्तों से पहले अपनी दीमागी रूप से कमजोर बेटी का बलात्कार करवाया और फिर 12 साल की नातिन को भी शराबी साथी के हवाले कर दिया। पीड़िता ने अपना दुख सुनाते हुए बताया कि उसकी मां मंदबुद्धि है और पिता की मौत हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें: कलयुगी मां ने 50 साल के प्रेमी से करवाया बेटी का रेप, जबरन शादी के बाद नाबालिग ने दिया बच्चे को जन्म

पिता की मौत के बाद से ही मां नाना के साथ रह रही थी। आरोपी रामलाल भील और नाना प्रभुलाल बागरी के पास शराब पीने आता था। पूरा परिवार खुले आसमान के नीचे सोता था। आरोपी रामलाल नाना को शराब पिलाने के बाद रात को वहीं सोता था। कई बार उसने नाना की मौजूदगी में दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। पीड़िता चिल्लाती रहती पर नाना मदद के लिए आगे नहीं आया और कहा कि उसका साथी गरीब है कोई फर्क नहीं पड़ता। बता दें कि पीड़िता के साथ एक साल से लगातार रामलाल भील बलात्कार जैसे घिनौने वारदाता को अंजाम दे रहा था और हैरानी की बात यह है कि आरोपी इसके लिए 70 साल के नाना को हर दिन 500 रुपए देता था। इसके अलावा पीड़िता जहां रहती वहां से बकरी चरा कर जाने वाला एक अन्य आरोपी अजय बैरवा भी लड़की को अकेले पाकर कई बार दुष्कर्म करता।

इसे भी पढ़ें: मैरिटल रेप अपराध है या नहीं, दिल्ली हाई कोर्ट में फंसा पेंच, सुप्रीम कोर्ट जाएगा केस

सरकारी स्कूल में छठी कक्षा में पढ़ने वाली पीड़िता की अचानक तबीयत बिगड़ी तो उसे महिला संस्था प्रधान ने अस्पताल भर्ती कराया जहां डॉक्टर ने बताया कि वह गर्भवती है। हालात की गंभीरता को देखते हुए संस्था प्रधान ने तुरंत पुलिस को सूचना दी। घटना की सूचना मिलते ही सीआई दिग्विजय सिंह व महिला कांस्टेबल के साथ मौके पर पहुंचे और मामला दर्ज किया। पीड़िता की मेडिकल जांच कराया गया और बयान भी दर्ज करवाए गए। 24 घंटें कते अंदर पुलिस ने घटना से जुड़े तीनों आरोपियों को धर दबोचा। बता दें कि सात दिन बाद आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट पेश कर दी जाएगी। वहीं नाना को अंतिम सांस तक जेल में रखे जाने की मांग की गई है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।