नरोत्तम मिश्रा ने ओवैसी को बताया मुस्लिमों का भस्मासुर, कहा- नारी के अपमान को अपना सम्मान समझते हैं

Narottam Mishra
ANI
अंकित सिंह । May 24, 2022 5:15PM
एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू को अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने लिखा कि यह दुर्भाग्यजनक है कि ओवैसी जी नारी के अपमान को अपना सम्मान समझते हैं। इसके साथ ही अपने इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि ओवैसी समाज के अंदर विद्वेष फैलाने की लगातार नापाक कोशिश करते रहते हैं।

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। इन सबके बीच हाल में ही असदुद्दीन ओवैसी ने एक फेसबुक पोस्ट लिखी थी। अपने पोस्ट में असदुद्दीन ओवैसी ने लिखा था कि मुगलों से भारत के मुसलमानों का कोई रिश्ता नहीं है। लेकिन यह तो बताओ कि मुगल बादशाहों की बीवियां कौन थी? अब इसको लेकर ओवैसी लगातार मुस्लिम धर्मगुरुओं से लेकर तमाम लोगों के निशाने पर हैं। उनकी खूब आलोचना हो रही है। इसी कड़ी में मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र ने भी ओवैसी को लेकर बड़ा बयान दिया है। नरोत्तम मिश्र ने तो ओवैसी को मुस्लिमों का भस्मासुर बता दिया।

इसे भी पढ़ें: काशी में साक्षात हैं प्रमाण ! फिर भी हो रहा है हिंदू आस्था का अपमान

एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू को अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने लिखा कि यह दुर्भाग्यजनक है कि ओवैसी जी नारी के अपमान को अपना सम्मान समझते हैं। इसके साथ ही अपने इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि ओवैसी समाज के अंदर विद्वेष फैलाने की लगातार नापाक कोशिश करते रहते हैं। उन्होंने ओवेसी से पूछा कि जब मुगलों से भारत के मुसलमानों का कोई रिश्ता नहीं है तो जब उनके स्मारकों पर कोई बात आती है तो ओवैसी की इतनी बेचैनी क्यों बढ़ जाती है। नरोत्तम मिश्रा ने दावा किया कि ओवैसी ने आज मातृशक्ति का अपमान किया है। 

इसे भी पढ़ें: ज्ञानवापी मस्जिद मामले में बोले असदुद्दीन ओवैसी, यह दुर्भाग्यपूर्ण है स्थानीय डीएम...

उन्होंने साफ तौर पर कहा कि महिलाओं के सम्मान और अधिकारों की बात ओवैसी कभी नहीं करते। ओवैसी सिर्फ मातृशक्ति और मातृभूमि के अपमान की बात करते रहते हैं। नरोत्तम मिश्र ने ओवैसी को छोटी मानसिकता के लोग बता दिया। इससे पहले असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि वह ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वेक्षण से आहत हैं और 1991 के उच्चतम न्यायालय के फैसले की अनदेखी की गई है। ओवैसी ने कहा कि ज्ञानवापी मस्जिद के मुद्दे पर बोलने पर लोग उनसे सवाल करते हैं। मैं बोलूंगा क्योंकि मैंने अपना ‘जमीर’ नहीं बेचा है, और न ही कभी ऐसा करूंगा। मैं बोलता हूं क्योंकि मैं केवल अल्लाह से डरता हूं, किसी मोदी या योगी से नहीं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़